Home » इंडिया » BSP President Mayawati's rally in Lucknow on the occassion of Kanshiram death anniversary
 

कांशीराम की पुण्यतिथि पर नीले रंग में रंगी नवाबों की नगरी, मायावती की बड़ी रैली

पत्रिका ब्यूरो | Updated on: 9 October 2016, 9:21 IST
(पत्रिका)

उत्तर प्रदेश की सियासत में चरम पर पहुंचने के बाद हाल के दिनों में बसपा सुप्रीमो मायावती अपने सबसे चुनौतीपूर्ण दौर से गुजर रही हैं. पहले 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी का खाता नहीं खुल सका और अब विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी के बड़े नेता एक-एक करके साथ छोड़ रहे हैं.

इस लिहाज से लखनऊ में आज हो रही बसपा की रैली काफी अहम है. पार्टी संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर रविवार को बसपा सुप्रीमो राजधानी में शक्ति प्रदर्शन करने जा रही हैं.

राज्य के तकरीबन हर जिले से बसपा कार्यकर्ताओं को रैली में लाने के लिए खास बंदोबस्त किए गए हैं. रैली को एक तरीके से सूबे की राजधानी में मायावती के शक्ति प्रदर्शन के रूप में देखा जा रहा है.

लाखों के पहुंचने की उम्मीद

रैली से पहले ही नवाबों का शहर लखनऊ नीले रंग में रंग गया है. पूरे लखनऊ को बसपा कार्यकर्ताओं ने पोस्टरों और झंडों से पाट दिया है.  बसपा की यह रैली दूसरे दलों के लिए भी संदेश हो सकती है. बाकी दल बारीके से इस रैली पर नजर गड़ाए हैं.

माना जा रहा है कि इश रैली में कई लाख बसपा कार्यकर्ता और जनता शामिल हो सकती है. मायावती पिछले सवा महीने से प्रदेश भर में रैलियां कर रही हैं. उनकी पहली रैली आगरा में हुई थी. 

इसके बाद कई दूसरे शहरों में भी मायावती ने रैली करते हुए भाजपा, बसपा और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. मायावती की हाल में हुई रैलियों में काफी भीड़ भी उमड़ रही है, जिससे बाकी दलों की नींद उड़ गई है.

ऐसे में पार्टी के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर आयोजित रैली के जरिए मायावती विरोधियों को करारा जवाब देने की पूरी कोशिश कर रही हैं.

19 ट्रेनें 210 बस बुक

रैली स्थल तक कार्यकर्ताओं को पहुंचाने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं. लखनऊ तक लोगों को लाने के लिए 19 स्पेशल ट्रेनें और 210 बसें बुक की गई हैं, जो सीधे लखनऊ आकर रुकेंगी. रैली के लिए अलग से हर जिले में कोऑर्डिनेटर बनाए गए हैं.

बुंदेलखंड के ललितपुर और बबीना रेलवे स्टेशन से स्पेशल ट्रेन का इंतजाम है. वहीं पूर्वांचल से भी भी दो ट्रेनों और बसों के जरिए 50 हजार कार्यकर्ताओं को लाने का लक्ष्य रखा गया है.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बसपा के एक लाख 60 हजार कार्यकर्ताओं को लाने के लिए 15 स्पेशल ट्रेनें बुक हैं.ये ट्रेनें नॉन स्टाप लखनऊ पहुंचेंगी.

दद्दू प्रसाद की भी रैली

बसपा से अलग हुए दद्दू प्रसाद भी रमाबाई अंबेडकर मैदान में बड़ी रैली करने का दावा कर रहे हैं. इस रैली में गुजरात के पाटीदार समाज के नेता हार्दिक पटेल भी शामिल हो सकते हैं.

बसपा सरकार में मंत्री रहे दद्दू प्रसाद को पार्टी अध्यक्ष मायावती ने डेढ़ साल पहले पार्टी से निकाल दिया था, इसके बाद से वो बहुजन मुक्ति पार्टी में हैं. 9 अक्टूबर को बसपा संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर दद्दू प्रसाद रैली के जरिए जोर-आजमाइश में जुटे हैं.

First published: 9 October 2016, 9:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी