Home » इंडिया » BSP posters depict Mayawati as Goddess Kali with Smriti Irani chopped head
 

विवादित पोस्टर: मायावती के हाथ में स्मृति ईरानी का सिर

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2016, 22:15 IST

उत्तर प्रदेश में 2017 में विधानसभा चुनाव होने हैं और राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता अपने नेताओं को पोस्टर के जरिए महिमामंडित करने में लगे हैं. 

यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य का विवादित पोस्टर सामने आने के कुछ दिन बाद ही हाथरस के सादाबाद में बीएसपी सुप्रीमो मायावती का एक विवादित पोस्टर लगाया गया है.

पढ़ें:मायावती ने स्मृति को उनके ही व्यूह में फंसाया, पूछा क्या अपना शीश कटाएंगी?

रविवार को अंबेडकर शोभायात्रा में शामिल एक झांकी में पूर्व सीएम और बीएसपी सुप्रीमो मायावती को काली के रूप में दिखाया गया है. जिसको लेकर सियासी विवाद खड़ा हो गया है.

काली रूप में मायावती का पोस्टर


पोस्टर में मायावती के हाथ में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी का कटा हुआ सिर दिखाया गया है. जिसमें से खून टपक रहा है.

वहीं पोस्टर में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को मायावती के पैरों में लेटे हुए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके सामने हाथ जोड़े दिखाया गया है. 

पढ़ें:बीजेपी का विवादित पोस्टर, 'केशव' बचाएंगे यूपी की इज्जत

24 फरवरी को राज्यसभा में रोहित वेमुला मामले में बहस के दौरान स्मृति ने मायावती के लगातार हंगामा करने पर कहा था कि मुझे जवाब देने दें, अगर आपके कार्यकर्ता और नेता मेरे जवाब से असंतुष्ट हुए तो मैं आपको चरणों में सिर कलम करके रख दूंगी.

'आरक्षण बंद नहीं करेंगे'


इसके अलावा पोस्टर पर लिखा गया है, "बहिन जी हमें माफ करो, हम आरक्षण बन्द नहीं करेंगे." वहीं विवादित पोस्टर की जानकारी मिलने के बाद प्रशासन ने पोस्टर को उतरवाया.

वहीं कार्रवाई को झांकी में शामिल लोगों ने इसे दलित विरोधी बताया है.

कुछ दिन पहले ही वाराणसी में यूपी बीजेपी के नए अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य का एक पोस्टर सामने आया था, जिसमें उन्हें कृष्ण के रूप में और यूपी को द्रौपदी के रूप में दिखाया गया था.

पोस्टर में विपक्षी नेताओं को यूपी का चीरहरण करते दिखाया गया था.

First published: 25 April 2016, 22:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी