Home » इंडिया » BSP Supremo Mayawati says next general election should be held by ballot paper
 

EVM हैकिंग की बात सामने आते ही मचा तूफान, मायावती ने लोकसभा चुनाव को लेकर कही बड़ी बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2019, 16:10 IST

2019 लोकसभा चुनाव से पहले ईवीएम मशीन की हैकिंग को लेकर तथाकथित दावे के कारण देश के सियासी हलकों में भूचाल आ गया है. इस बीच बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने अगला लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से करवाने की बात कही है. मायावती ने ईवीएम को हैक किये जाने के एक साइबर विशेषज्ञ के दावे का हवाला देते हुए ये बात कही.

बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि चुनाव आयोग अगला लोकसभा चुनाव मतपत्र से ही कराये. मायावती ने कहा, "लंदन में एक साइबर विशेषज्ञ द्वारा यह दावा करना कि 2014 में लोकसभा चुनाव के अलावा उत्तर प्रदेश, गुजरात आदि राज्यों के पिछले विधानसभा चुनावों में ईवीएम के जरिये जबरदस्त धांधली की गई थी, ईवीएम धांधली पर जारी विवाद को और भी ज्यादा गंभीर बनाता है."

पढ़ें- कांग्रेस के दिग्गज नेता बोले- राहुल गांधी PM बनने लायक नहीं, कांग्रेस 100 सीटें भी नहीं जीतेगी

मायावती ने कहा कि लोकतंत्र के व्यापक हित में ईवीएम विवाद पर तत्काल समुचित ध्यान देने की जरूरत है. वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा. इसलिये जनता की इस आशंका का समय पर संतोषजनक समाधान होना जरूरी है. 

पढ़ें- BJP ने MP, राजस्थान और छत्तीसगढ़ चुनाव में की थी EVM हैक करने की कोशिश- हैकर का दावा

बता दें कि अमेरिका में रहने वाले एक भारतीय हैकर के ईवीएम हैकिंग के दावे से देश में सियासी भूचाल आ गया है. हैकर ने दावा किया है कि राजस्‍थान, छत्‍तीसगढ़ और मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में भी भाजपा ने ईवीएम हैक करने की कोशिश की थी. हैकर की पहचान सैयद शुजा के तौर पर हुई है.

पढ़ें- UC Browser और TikTok समेत इन चीनी एप्स से हो जाएं सावधान, विदेश जा रही आपकी निजी जानकारी

हैकर सैयद शुजा ने स्काईप के जरिये लंदन में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए दावा किया कि 2014 में वह भारत से पलायन कर गया था क्योंकि उसकी टीम के कुछ सदस्यों के मारे जाने की घटना के बाद वह डरा हुआ था. हैकर ने दावा किया कि रिलायंस जियो ने कम फ्रीक्वेंसी के सिग्नल पाने में भाजपा की मदद की थी ताकि ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सके.

First published: 22 January 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी