Home » इंडिया » BSP Supremo Mayawati Welcomes SC Verdict On Reservation In Promotion For SC/ST In Government Jobs
 

पदोन्नति में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसला का मायावती ने किया स्वागत, बोलीं केंद्र करे लागू

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2018, 13:18 IST

सरकारी नौकरियों में प्रमोशन के मामले में SC/ST आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संविधान पीठ ने आज यानि बुधवार को अपना अहम फैसला सुनाया. सरकारी नौकरियों के लिए प्रमोशन में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया कि सरकारी नौकरियों के प्रमोशन में SC/ST को आरक्षण मिलेगा.

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हुए बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि वो कुछ हद तक सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करती हैं. बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि, सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला कुछ हद तक स्वागत योग्य है. बता दें कि कोर्ट ने प्रमोशन में आरक्षण पर रोक नहीं लगाई है और साफ कहा है कि केंद्र या राज्य सरकार इस पर निर्णय लें. मायावती ने कहा कि बसपा की मांग है कि सरकार प्रमोशन में आरक्षण तुरंत लागू करें.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अनुसूचित जाति-जनजाति के (SC/ST) कर्मचारियों को प्रमोशन में आरक्षण मामले में फैसला सुनाया. अदालत ने कहा है कि सरकारी नौकरियों में प्रमोशन जारी रहेगा. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि फैसले पर फिर से विचार की जरूरत नहीं है.

शीर्ष अदालत ने कहा कि पिछड़ेपन पर मात्रात्मक डेटा एकत्र करने की आवश्यकता नहीं है. अदालत ने कहा कि प्रमोशन में एससी एसटी आरक्षण को बड़ी बेंच को नहीं जाएगा. बता दें कि केंद्र सरकार नागराज मामले पर पुनर्विचार चाहती थी. अदालत के इस फैसले के बाद साल 2006 का आदेश बरकरार रहेगा. मामले की सुनवाई कर रही पीठ में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्ष वाली इस बेंच में जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस रोहिंटन नरीमन, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस इंदु मल्होत्रा शामिल थीं.

ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट ने दिया सरकार को बड़ा झटका, SC/ST को प्रमोशन में नहीं मिलेगा आरक्षण

First published: 26 September 2018, 13:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी