Home » इंडिया » Budget 2018 live update: entertainment industry's expectations to General Budget 2018
 

बजट 2018 LIVE: इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को भी हैं ये बड़ी उम्मीदें

विकाश गौड़ | Updated on: 1 February 2018, 11:26 IST

गुरुवार एक फरवरी को आम बजट पेश होगा. इस बजट पर इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री नज़र गढ़ाए बैठी है. दरअसल इस बजट से इंटरटेनमेंट को जीएसटी कम होने की उम्मीद है. इस बाबत फिल्म और टीवी प्रड्यूसर्स गिल्ड ने केंद्र सरकार को एक मेमोरंडम भेजकर अपनी कई मांगें सरकार के सामने रखी हैं.

 

सरकार को भेजे गए मेमोरंडम में पायरेसी को लेकर भी टैक्स सुधारों की मांग की गई है. इस बारे में प्रड्यूसर्स गिल्ड का कहना है कि एक फिल्म को बनाने के लिए काफी मेहनत और पैसा लगता है लेकिन भारत में पायरेसी की समस्या अपने लंबे पैर पसार रही है. इस बात से मेकर्स को काफी नुकसान का सामना करना पड़ता है.

 

पायरेसी से परेशान मेकर्स

बॉलीवुड की फिल्म हो या फिर कोई विदेशी फिल्म रिलीज होने के कुछ ही घंटों के बाद उसकी कॉपी टॉरेंट और कई अन्य साइट्स पर अपलोड कर दी जाती हैं जिसे बहुत ही आसानी से डाउनलोड करके देखा जा सकता है. ऐसे में जाहिर सी बात है कि फिल्म मेकर्स को इस बात से काफी नुकसान उठाना पड़ता है.

थिएटर्स मालिकों को मिले इनकम टैक्स में छूट

प्रड्यूसर्स गिल्ड की सरकार से मांग यह भी है कि थिएटर्स मालिकों को डिमांड इनकम टैक्स में छूट मिले. कहा है कि जिन मालिकों ने अपने थिएटर्स साल 2005 के बाद बनवाए हैं, उन्हें भारी भरकम टैक्स देने से काफी नुकसान हो रहा है. ऐसे में अगर उन्हें अधिनियम 80-IB के तहत छूट मिले तो ज्यादा से ज्यादा लोग थिएटर्स में इनवेस्ट कर सकेंगे.

लाइन प्रोडक्शन को 2% टैक्स में लाने की मांग

प्रड्यूसर्स गिल्ड की तीसरी मांग ये है कि लाइन प्रोडक्शन के तहत टेक्निकल सर्विस में काम करने वाले लोगों का 10 फीसदी के बजाय 2 फीसदी के हिसाब से टीडीएस काटे. ऐसा होता है तो इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को फायदा होगा और ज्यादा टैक्स कटने से हो रहे लाइन प्रड्यूसर्स के नुकसान भरपाई होगी.

First published: 1 February 2018, 11:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी