Home » इंडिया » Budget 2018: president ram nath kovind customary address to member of parliament in central hall
 

बजट 2018: राष्ट्रपति के अभिभाषण में दिखी न्यू इंडिया की झलक, भारत माता के नारों से गूंजा सेंट्रल हॉल

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 January 2018, 11:44 IST

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण से बजट सत्र की शुरुआत हो गई. बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रगान से हुई इसके बाद सेंट्रल हॉल भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा. बजट सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सभी देशवासियों को त्योहारों और गणतंत्र दिवस की बधाई दी. उन्होंने आसियान देशों के प्रमुखों की उपस्थिति की भी तारीफ की. उन्होंने कहा कि मेरी सरकार सामाजिक और आर्थिक परिस्थिति को मजबूत करने का काम कर रही है.

बजट सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि सरकार ने संसद में तीन तलाक बिल पेश किया, जल्द ही इसे कानून भी बनाया जाएगा. देश में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का दायरा बढ़ रहा है. सरकार गरीबों की पीढ़ा को दूर करने की कोशिश कर रही है, 640 जिलों में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की योजना चल रही है.

 

राष्ट्रपति ने कहा कि शौचालयों को बनाकर सरकार लोगों की सहायता कर रही है. उन्होंने कहा सरकार 2019 तक स्वच्छ भारत बनाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए तत्पर है. राष्ट्रपति बोले कि हमारा लक्ष्य 2019 तक हर गांव को सड़क से जोड़ने का है. सौभाग्य योजना से 4 करोड़ घरों में बिजली पहुंचाई है. अब तक 82 फीसदी गांवों को सड़क से जोड़ा जा चुका है.

 

उन्होंने कहा कि सरकार का जोर किसानों की आय को दोगुना करने का है. दाल के उत्पादन में 38 फीसदी की रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज हुई है. 99 सिंचाई परियोजना को पूरा करना सरकार का लक्ष्य है, अनाज की बर्बादी को रोकने के लिए सरकार ने योजना बनाई है. उन्होंने कहा कि सरकार के कार्यकाल में यूरिया का उत्पादन बढ़ा है. जनधन योजना के तहत करीब 31 करोड़ बैंक खाते खोल दिए गए हैं.

राष्ट्रपति ने कहा कि अटल पेंशन योजना के तहत 80 लाख वरिष्ठ नागरिक की सेवा की जा रही है. हमने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू की, अब किसानों के लिए बीमा करवाना आसान किया. सरकार सस्ती दरों में डिजिटल सेवा दे रही है, 2.5 लाख गांवों को डिजिटल बनाया जा रहा है.

First published: 29 January 2018, 11:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी