Home » इंडिया » Budget 2019: May Modi 2.0 Budget give Relief Nirmala Sitamraman can Changes these thing
 

Budget 2019: मध्यमवर्ग को राहत देने वाला होगा मोदी 2.0 का बजट? निर्मला सीतरमण कर सकती है कुछ अहम बदलाव

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2019, 23:29 IST

Budget 2019-2020 प्रधानमंत्री मोदी से नेतृत्व वाली केंद्र की एनडीए सरकार शुक्रवार को 17वीं लोकसभा का अपना पहला बजट पेश करेगी. यह वजट देश की पहली महिला पूर्ण कालिक वित्त मंत्री निर्माला सीतारमण पेश करेंगी. इस बजट पर पूरे देश की निगाह है. मोदी 1.0 में सरकार में जब इसी साल अंतरिम बजट पेश किया गया था तो उसमें नौकरी पेशा लोगों को काफी छूट मिली थी. ऐसे में देश के नौकरी पेशा लोगों को उम्मीद है कि इस बजट में टैक्स में छूट देकर उन्हें राहत दी जाए.

मोदी 2.0 सरकार के बजट से पहले देश के कई विशलेणकों का मानना है कि सरकार का यह बजट देश के मध्यम वर्ग को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है, ऐसे में यह टैक्स में छूट देने वाला होगा. वहीं विशलेषकों का मानना है कि सरकार के ऐसा करने से अर्थवयवस्था की गाड़ी दोबार से पटरी पर लौट जाएगी.

वहीं बजट से पहले ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया है कि मौजूदा वित्त मंत्री आयकर में छूट की सीमा को बढ़ा सकती है. मोदी सरकार ने अपने बीते कार्यकाल में आयकर की सीमा को 2 लाख के बढ़ाकर 2.5 लाख कर दिया था. वहीं रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार इस बजट में इस सीमा को तीन लाख कर सकती है. लेकिन ऐसे में देखने वाली बात होगी क्या मोदी सरकार ऐसा करेगी क्योकि मोदी सरकार ने बीते कार्यकाल में ही अंतरिम बजट पांच लाख रुपये तक की इनकम को टैक्सेबल नहीं माना था. ऐसे में देखना होगा कि क्या निर्माला सीतारमण के पहले बजट में टैक्स में इस तरह का प्रावधान होता है कि नहीं.

इसके साथ ही इस बात की भी चर्चा है कि वित्त मंत्री इस बार आयकर अधिनियम 80C के तहत बजट और निवेश के लिए टैक्स छूट की सीमा बढ़ा सकती है. वहीं कई विशलेषकों का मानना है कि क्योंकि मोदी सरकार स्वास्थ क्षेत्र पर काफी जोर दे रही है ऐसे में 80D के अंतर्गत काटी जाने वाली रकम को बढा़कर 25 हजार से 35 हजार तक सकती है.

प्रधानमंत्री किसान योजना : ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने पर जोर

First published: 4 July 2019, 23:20 IST
 
अगली कहानी