Home » इंडिया » Bulandshahr gangrape: CBI investigation team reaches to the NH-91, collected evidence from the scene
 

बुलंदशहर गैंगरेप: एनएच-91 से सीबीआई की तफ्तीश शुरू, मौके से जुटाए कई सबूत

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2016, 11:24 IST
(पत्रिका)

बुलंदशहर में हाईवे पर हुए गैंगरेप मामले की जांच के लिए शुक्रवार को सीबीआई की टीम एनएच-91 पर स्थित घटनास्थल पर पहुंची. डीआईजी और एसपी रैंक के अधिकारियों वाली टीम ने मौके से कई सबूत जुटाए.

सीबीआई टीम ने आरोपियों के खिलाफ तीन धाराओं में केस दर्ज किया है. आरोपियों पर अगवा करने, मां-बेटी से रेप करने और डकैती का मामला दर्ज किया गया है.

शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे सीबीआई की टीम बुलंदशहर के पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पहुंची. टीम में एक डीआईजी स्तर के अधिकारी के साथ एक एसपी और दो डीएसपी सहित कुल 20 सदस्य हैं. डीआईजी शरद अग्रवाल के नेतृत्व में यह टीम जांच-पड़ताल कर रही है.

पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में करीब दो घंटे तक सीबीआई अधिकारियों ने जिला पुलिस अधिकारियों से बातचीत की और मामले की जानकारी ली. सीबीआई टीम के आधा दर्जन अधिकारी सीबीआई के वकील के साथ करीब साढ़े 12 बजे जिला अदालत पहुंचे.

मामले से जुड़ी फाइल देखने के बाद में सीबीआई ने जेल भेजे गये मामले के आरोपी सलीम बावरिया और उसके दो साथियों की रिमांड मांगी है.

उधर, सीबीआई के डीआईजी के नेतृत्व में टीम में शामिल तफ्तीश से जुड़े अफसर करीब एक बजे मौका-ए-वारदात पर पहुंचे और जांच शुरू की. जांच शुरू करने से पहले अफसरों ने पुलिस के अधिकारियों से घटनाक्रम को समझा और वो जगहें देखी जहां मां-बेटी के साथ गैंगरेप हुआ और वारदात के शिकार पुरुष पीड़ितों को बंधक बनाकर रखा गया था.

सीबीआई टीम के साथ बुलंदशहर के एसपी सिटी मान सिंह चैहान और एसपी देहात पंकज कुमार पाण्डेय के अलावा एसपी क्राइम अरविंद कुमार भी मौजूद रहे.

हाईकोर्ट ने लिया था स्वतः संज्ञान 

गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डीबी भोसले और जस्टिस यशवंत वर्मा की बेंच ने एनएच-91 पर हुए लूट के बाद गैंगरेप मामले का स्वतः संज्ञान लेकर 12 अगस्त को इस मामले में सीबीआई जांच का आदेश दिया था.

सीबीआई प्रवक्ता देवप्रीत सिंह ने कहा कि एजेंसी ने डकैती, सामूहिक बलात्कार, अपहरण से जुड़ी धाराओं और पॉक्सो कानून के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

प्रवक्ता ने कहा, जिला बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) के कोतवाली देहात पुलिस थाने में 2016 में दर्ज मामले में क्रमांक 838 की जांच सीबीआई ने अपने हाथ में ले ली है.

इसमें पांच से छह हमलावरों पर एक महिला और उनकी बेटी का अपहरण करने, उन्हें लूटने और उनके साथ जिला बुलंदशहर के दोस्तपुर गांव के नजदीक के खेतों में बलात्कार करने का आरोप है. यह घटना 29 और 30 जुलाई 2016 की रात की है.

First published: 20 August 2016, 11:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी