Home » इंडिया » Bulandshahr violence: Last minutes of Inspector Subodh Kumar, mob attacked police man
 

बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के आखिरी खौफनाक पल, वीडियो में दिखा भीड़ का घिनौना चेहरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 December 2018, 12:16 IST

बुलंदशहर में गोकशी के शक में बेकाबू हुई भीड़ ने एक पुलिस इंस्पेक्टर की हत्या कर दी. इंस्पेक्टर सुबोध की पर हमला करती हुई भीड़ का एक खौफनाक वीडियो सामने आया है. ये इंस्पेक्टर सुबोध की मौत के कुछ मिनट पहले का है. वीडियो में भीड़ किस तरह से इंस्पेक्टर सुबोध को टारगेट कर रही है ये साफ़ देखा जा सकता है.

वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि भीड़ सुमित को गोली लगने के बाद एकदम से इंस्पेक्टर पर टूट पड़ती है. वीडियो में भीड़ में से सुनाई दे रही हैं, ''मारो-मारो…'' सुबोध पर हमला करते समय भीड़ से आवाज आ रही है, ''इसी ने मारा है. मारो इसे'' वहीं हिंसा के दौरान के एक वीडियो में ये देखा जा सकता है कि जिस सुमित को गोली लगने पर भीड़ इतना बेकाबू हो गई वो खुद पत्थर बाजी करते दिख रहा है. हिंसा के समय शूट किये गए इस वीडियों में भीड़ चिल्लाती है, ‘गोली लग गई’ और सुमित की छाती से खून निकलता दिखाई दे रहा है.

सुमित को गोली लगने के बाद भीड़ इस्पेक्टर को दौड़ाकर खेत में पकड़ लेती है और उन्हें पीटती है. इसी दौरान भीड़ से ये आवाज़ें भी सुनाई दे रही हैं, ''मारो, इसकी बदूंक निकालो''. इंस्पेक्टर सुबोध की इसके बाद ही मौत हो जाती है. सामने आये वीडियो में ये दृश्य बेहद ही डरावना है.

ये भी पढ़ें- बुलंदशहर हिंसा: हिंसा का शिकार हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह, क्या है अख़लाक़ लिंचिंग केस कनेक्शन?

 

गौरतलब है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत गोली लगने से हुई. पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में ये बात सामने आयी है कि एक गोली उनकी आंख से ऊपर से होते हुए सर में लगी थी. जिस कारण उनकी मौत हो गई.

ध्यान देने की बात है कि सुबोध कुमार का ट्रांसफर 3 साल पहले ही गाज़ियाबाद में हुआ था. इंस्पेक्टर सुबोध दादरी में मोहम्मद अखलाक़ लिंचिंग मामले में मुख्य जांच अधिकारी थे. अख़लाक़ को भी गोकशी के शक में भीड़ ने उसके घर में घुस कर उसे पीट पीट कर मार डाला था.

First published: 6 December 2018, 12:16 IST
 
अगली कहानी