Home » इंडिया » CAA Protest: How did the five people killed in Delhi Mauzpur, Zafarabad died?
 

CAA प्रोटेस्ट: दिल्ली के मौजपुर, जाफराबाद हुई हिंसा में मारे गए पांच लोगों की मौत कैसे हुई ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2020, 14:28 IST

दिल्ली में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर हो रहे संघर्ष में मारे गए सात लोगों में से चार की मौत गोली लगने से हुई. इस हिंसा में एक पुलिस कांस्टेबल की भी मौत हो गई थी. यह हिंसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात से ठीक पहले हुई है.

केन्दीय दिल्ली से 15 किमी की दूरी पर स्थित मौजपुर, जाफराबाद, भजनपुरा, कर्दमपुरी, दयालपुर और चंदबाग इलाकों में हिंसा हुई. एक रिपोर्ट के अनुसार एक अज्ञात डॉक्टर ने अखबार को बताया "अब तक झड़पों में सात लोगों की मौत हो गई है. कहा गया है कि मरने वालों में एक पुलिस कांस्टेबल था, जिनकी सिर में गंभीर चोट लगने मौत हुई.


रिपोर्ट के अनुसार एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि कॉन्स्टेबल रतन लाल की पत्थर या लाठी से चोट लगने से मौत हुई है. दिलशाद गार्डन के गुरु तेग बहादुर अस्पताल में 50 से अधिक घायलों को भर्ती किया गया है, उनको आपातकालीन वार्ड को रखा गया है.

हालांकि अस्पताल ने घायलों की सही जानकारी नहीं दी है. कहा गया है कि कुछ प्रदर्शनकारी पुलिस द्वारा दागी गई आंसू गैस घायल हुए हैं. द इंडियन एक्सप्रेस ने बताया कि अतिरिक्त चिकित्सा अधीक्षक, जीटीबी अस्पताल, राजेश कालरा ने कहा कि एक 10 वर्षीय के बच्चे को भी गोली लगी है. बच्चे को अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में भर्ती कराया गया है.

रिपोर्ट के अनुसार छह पुलिसकर्मियों को पटपड़गंज के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसमें शाहदरा के पुलिस उपायुक्त अमित शर्मा शामिल हैं, जिन्हें सिर में चोट लगी है. अस्पताल ने एक बयान में कहा "मैक्स अस्पताल में दिल्ली के कुछ हिस्सों में हुई हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों को भर्ती करवाया गया है.

चार मरीजों का अस्पताल में इलाज चल रहा है, जबकि दो अन्य को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है." जग परवेश चंदर अस्पताल में लगभग 12 लोगों को लाया गया था, जिनमें से ज्यादातर मामूली रूप से घायल थे. चिकित्सा अधीक्षक आदर्श कुमार ने कहा "कुछ लोगों को फ्रैक्चर हुआ था और एक को चोटें आई थीं." 

इस हिंसा के दौरान वाहनों, दुकानों, घरों और एक पेट्रोल पंप में आग लगा दी गई है. दो मिनी ट्रकों में भी तोड़फोड़ की गई और एक फायर टेंडर को जला दिया गया. इस बीच जाफराबाद इलाके में हिंसा के दौरान गोलीबारी करने वाले एक व्यक्ति की शाहरुख के रूप में पहचान हुई है.

एएनआई के अनुसार एक वीडियो में उसे एक निहत्थे पुलिस अधिकारी के सामने बंदूक उठाते हुए और हवा में कुछ राउंड फायरिंग करते हुए देखा गया था. दिल्ली सरकार ने पूर्वोत्तर दिल्ली जिले के सभी निजी और सरकारी स्कूलों को हिंसा के मद्देनजर मंगलवार को बंद रखने का आदेश दिया है.

दिल्ली सरकार के मंत्री मंत्री गोपाल राय, इमरान हुसैन और आम आदमी पार्टी के अन्य विधायकों ने विशेष पुलिस आयुक्त राजेश खुराना से मुलाकात की है. उन्हें पुलिस ने आश्वासन दिया कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में पर्याप्त पुलिस कर्मी तैनात किए जाएंगे. केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने संवाददाताओं को बताया कि स्थिति नियंत्रण में है और पर्याप्त बल तैनात किए गए हैं.

CAA प्रोटेस्ट : दिल्ली में 7 लोगों की मौत, केजरीवाल ने लगाया पुलिस पर उचित कार्रवाई नहीं करने का आरोप

 

First published: 25 February 2020, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी