Home » इंडिया » CAA Protests: Chancellor of Jamia demands investigation against police action, dismisses news of students' death
 

CAA Protests: जामिया की कुलपति आयी सामने, छात्रों की मौत की खबर को बताया अफवाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2019, 13:37 IST

CAA Protests: दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी की कुलपति नजमा अख्तर ने कल की घटना के बारे में मीडिया को जानकारी दी है. नजमा अख्तर ने कहा ''इस घटना के दौरान संपत्ति की भारी क्षति हुई है, इस सब की भरपाई कैसे होगी?''. उन्होंने कहा ''इससे भावनात्मक नुकसान भी हुआ है. कल की यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी. मैं सभी से किसी भी तरह की अफवाहों पर विश्वास न करने की अपील भी करती हूं''.

नजमा अख्तर ने का ''हम अपने विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस के प्रवेश के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करेंगे. आप संपत्ति का पुनर्निर्माण कर सकते हैं, लेकिन आप उन चीजों के लिए क्षतिपूर्ति नहीं कर सकते हैं, जो छात्रों के साथ हुई. हम उच्च स्तरीय जांच की मांग करते हैं''.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में विरोध प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिए गए 50 से अधिक छात्रों को सोमवार की सुबह में रिहा कर दिया गया. जबकि उनमें से 35 को कालकाजी पुलिस स्टेशन छोड़ दिया गया था, शेष 15 न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी से रिलीज किए गए थे. कॉलेज कैंपस के अंदर आंसूगैस के गोले फटने के बाद छात्रों, पुलिसकर्मियों और दमकलकर्मियों सहित 100 से अधिक लोग घायल हो गए.

 

जामिया मिलिया इस्लामिया की कुलपति ने कहा कि यह अफवाह फैलाई जा रही है, जिसमे कहा जा रहा है कि है कि दो छात्रों की मौत हो गई है. हम इस बात से पूरी तरह इनकार करते हैं, हमारे किसी भी छात्र की मृत्यु नहीं हुई. लगभग 200 लोग घायल हुए जिनमें से कई हमारे छात्र थे.

CAA प्रोटेस्ट : असम में अब तक पांच लोगों की मौत, कर्फ्यू में दी गई ढील

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस घटना के बाद जामिया की छात्राएं सुबह ही कैंपस और हॉस्टल छोड़कर अपने घर जा रही हैं. छात्राओं का कहना है कि उन्हें डर है कि कैंपस में फिर से हिंसा हो सकती है. छात्राओं ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनपर अचानक हमला किया. उन्हें बुरी तरह पीटा गया.

जामिया प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट के CJI की कड़ी टिप्पणी, कानून हाथ में नहीं ले सकते छात्र

First published: 16 December 2019, 13:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी