Home » इंडिया » CAB 2019: Students start leaving from Jamia Millia Islamia University after yesterday riots
 

हिंसा की आशंका के चलते 5 जनवरी तक AMU बंद, डर से जामिया छोड़कर जा रही छात्राएं

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2019, 9:59 IST

Jamia Millia Islamia Protest: नागरिकता कानून(CAB 2019) में बदलाव को लेकर जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में बीती रात हुई हिंसा(Riots) के बाद माहौल काफी खराब हो गया है. इसके बाद आज जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय से छात्र और छात्राओं ने डर के मारे कैंपस छोड़ना शुरू कर दिया. हालांकि, कल की घटना के बाद विश्वविद्यालय भी 5 जनवरी तक बंद कर दिया गया है.

दरअसल, कल शाम से जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और दक्षिणी दिल्ली के इलाके में बवाल की घटना सामने आई. यह बवाल शुरू होते ही अफरा-तफरी फैल गई. छात्रों का कहना है कि वह नागरिकता कानून में बदलाव को लेकर शांतिपूर्ण विरोध कर रहे थे. इसके बाद पुलिस ने उन पर क्रूरतापूर्ण बर्ताव किया.

अब कल की घटना के बाद जामिया की छात्राएं सुबह ही कैंपस और हॉस्टल छोड़कर अपने घर जा रही हैं. इन छात्राओं का कहना है कि उन्हें डर है कि कैंपस में फिर से हिंसा हो सकती है. छात्राओं का कहना है कि जब वह अपने हॉस्टल और लाइब्रेरी में ही सुरक्षित नहीं हैं तो कहां जाएं?

छात्राओं का कहना है कि वह कल कैंपस में चाय पी रहे थे, तभी पुलिस ने अचानक हमला कर दिया. छात्राओं ने बताया कि उनके साथियों को बुरी तरह पीटा गया. वहीं, आज जामिया विश्वविद्यालय का एक छात्र सुबह से ही अपनी शर्ट निकालकर विश्वविद्यालय गेट पर विरोध स्वरूप बैठा है. छात्र कल की घटना को लेकर दिल्ली पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहा है. 

जामिया में हुए बवाले के बाद सैकड़ों गुस्साए छात्रों ने देर रात आईटीओ स्थित दिल्ली पुलिस मुख्यालय का घेराव किया था. 

झारखंड विधानसभा चुनाव: चौथे चरण का मतदान शुरू, 15 सीटों पर हो रही है वोटिंग

नागरिकता कानून पर PM मोदी का बयान- कपड़े देखकर पता चलता है किन लोगों ने लगाई आग

First published: 16 December 2019, 9:29 IST
 
अगली कहानी