Home » इंडिया » Calling the ASEAN countries on Republic Day and sending messages to China, repablic day
 

गणतंत्र दिवस पर ASEAN देशों को बुलाकर पीएम मोदी ने चीन को दी बड़ी चुनौती

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 January 2018, 11:08 IST

गणतंत्र दिवस के अवसर पर 10 आसिआन (ASEAN) देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने हिस्सा लिया. यह पहला मौका है जब आसिआन देश गणतंत्र दिवस पर भारत की ताकत को देखेंगे. आसियान देशों में थाइलैंड, वियतनाम, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन, सिंगापुर, म्यांमार, कंबोडिया, लाओस और ब्रूनेई शामिल हैं.

गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत आसिआन देशों को बुलाकर भारत समुद्री सहयोग पर जोर देना चाहता है. इसके जरिये भारत चीन को भी एक साफ सन्देश देना चाहता है क्योंकि दक्षिण चीन सागर में दक्षिण एशियाई देशों का चीन से विवाद है.

 

इससे पहले कई बार चीन आसियान में दखल देता रहा है. क्योंकि भारत बड़ी मात्रा में व्यापार दक्षिण चीन सागर से करता है. दूसरी ओर अमेरिका भी भारत के सहारे इस क्षेत्र में अपनी धमक बनाए रखना चाहता है जिससे चीन इस क्षेत्र में अपनी एकतरफा स्थिति का फायदा न उठा सके.

चीन इस क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत कर भारत का व्यापार प्रभावित करना चाहता है. इससे पहले दक्षिण चीन सागर को लेकर आसियान में चीनी दखल के कारण यह कभी मुद्दा नहीं बन पाया.

इससे पहले राष्ट्रपति ने अपने सम्बोधन में कहा, ''यह दौर पूरी लगन, संकल्प और प्रतिबद्धता के साथ देश को संवारने और समाज की विसंगतियों को दूर करने के लिए किये गये निरंतर प्रयासों का दौर था. आज फिर हम एक ऐसे ही मुकाम पर खड़े हैं. एक राष्ट्र के रूप में हमने बहुत कुछ हासिल किया है परंतु अभी भी बहुत कुछ करना बाकी है. हमारे लोकतंत्र का निमार्ण करने वाली पीढ़ी ने जिस भावना के साथ काम किया था आज फिर उसी भावना के साथ काम करने की जरूरत है."

भारत-आसियान मैत्री के 25 साल पूरे होने पर सरकार ने सभी 10 आसियान देशों की एक-एक हस्ती को पद्मश्री अवॉर्ड से नवाजा.

ब्रूनेई दारुस्सलाम के मलाजी हाजी अब्दुल्ला मलाजी हाजी ओथमान को चिकित्सा वर्ग में पद्मश्री दिया गया है. वह सोसाइटी फॉर मैनेजमेंट ऑफ ऑटिज्म रिलेटेड इश्यूज इन ट्रेनिंग, एजुकेशन ऐंड रिसोर्सेज (Smarter) के संस्थापक हैं.

कम्बोडिया के पूर्व प्रधानमंत्री हुन सेन के बेटे हुन मैनी को जनता के बीच काम के लिए पद्मश्री अवॉर्ड दिया गया है. वह कम्बोडिया के सबसे युवा सांसद हैं और यूनियन ऑफ यूथ फेडरेशन, कम्बोडिया के प्रेसिडेंट हैं.

First published: 26 January 2018, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी