Home » इंडिया » Catch Hindi: camels are getting married in a grand ceremony in madhya pradesh
 

ऊंट-ऊंटनी की शादी में जमकर होगा बैंड, बाजा और बारात

अनूप दत्ता | Updated on: 6 May 2016, 8:58 IST

आपको भले ही यकीन न आए लेकिन मध्य प्रदेश के शिवपुरी ज़िले के रिनहाई गांव में एक ऊंटनी की शादी होने जा रही है.

कललो नामक इस ऊंटनी के मालिक का कहना है कि उन्होंने उसे परिवार के सदस्य की तरह पाला है इसलिए वो उसकी शादी धूमधाम से करेंगे.

कललो के मालिक रघुवंशी पेशे से किसान हैं. वो कहते हैं, "मेरी कललो की शादी हटके लेकिन डटके होगी. मैंने एक हजार लोगों को कार्ड भेजा है. मुझे उम्मीद है कि करीब पांच हजार लोग शादी में आएंगे."
 
रघुवंशी ने बताया कि शादी का दो दिन का समारोह 11 मई को गणेश पूजन से शुरू होगा. उसके बाद अखंड रामायण पाठ होगा.

कललो नामक ऊंटनी की शादी 12 मई को गोपाल नामक ऊंट से होगी

चार साल की कललो को रामायण पाठ के दौरान पूरी रात जागना होगा. उसके बाद 12 मई को गोपाल नामक ऊंट से उसकी शादी होगी. गोपाल शिवपुरी जिले के बधारी गांव के लक्ष्मण सिंह  नामक किसान का ऊंट है.

रघुवंशी ने बताया, "शादी के लिए कोई शुभ मुहुर्त नहीं है इसलिए ये शादी सेमर बाग के पवित्र पीपल के नीचे होगी." ये बाग उनके गांव से दो किलोमीटर दूर है.  शादी के बाद मेहमानों को प्रीति भोज दिया जाएगा.

बीते शनिवार को ही रघुवंशी परिवार ने शादी के लिए नए कपड़े खरीदे और डीजे बुक कराया.
 
बुधवार को रघुवंशी वधू पक्ष के अभिभावक होने के नाते लक्ष्मण सिंह के घर उपहार वगैरह लेकर गए.

स्थानीय निवासियों के अनुसार आसपास के जिलों में ऐसा पहली बार होगा कि दो परिवारों के ऊंटों की भव्य समारोह में शादी होगी.

ऊंटनी कललो को किसान रघुवंशी अपने बच्चों की तरह प्यार करते हैं

रघुवंशी बताते हैं कि वो शादी का प्रस्ताव लेकर लक्ष्मण सिंह के घर गए थे, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया.

तीन बच्चों के पिता रघुवंशी कललो को भी बच्चों की तरह प्यार करते हैं.  उन्होंने बताया, "मैं पालतू जानवरों गाय, भैंस, कुत्तों के साथ पला बढ़ा हूं. दो साल पहले मैंने एक ऊंटनी खरीदी. धीरे धीरे वो मेरी सबसे प्यारी पालतू जानवर बन गई. उससे मेरी कई यादें जुड़ी हुई हैं."

रघुवंशी कहते हैं कि कललो बहुत ही प्रेमी स्वाभाव की है. वो मेरे कंधे पर सिर रखकर प्यार करती है. जब दूसरे जानवर बीमार होते हैं तो उन्हें भी दिलासा देती है.  कभी किसी को काटती या मारती नहीं है. उसने मुझे अपना सबसे अच्छा दोस्त बना लिया है.

रघुवंशी कहते हैं, "हम लोग इतने घुल-मिल गए हैं कि एक ही साबुन से नहाते हैं."

First published: 6 May 2016, 8:58 IST
 
अनूप दत्ता

Anup Dutta is a journalist based out of Bhopal.

पिछली कहानी
अगली कहानी