Home » इंडिया » car use in pulwama attack was manufactured in 2010-2011
 

पुलवामा अटैक में इस्तेमाल हुई कार को लेकर बड़ा खुलासा, ऐसे रखा गया था विस्फोटक

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2019, 12:09 IST

पुलवामा आतंकी हमले में जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया गया है. उस गाड़ी को लेकर कई खुलासे हुए हैं. खुफिया जांचकर्ता जल्द ही गाड़ी के मालिक तक पहुंच सकते हैं. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, Maruti के अधिकारियों को जांच में पता चला है कि इस आत्मघाती हमले में मारुति ईको इस्तेमाल की गई थी. ये गाड़ी साल 2010-11 में बनाई गई थी. गाड़ी को दोबारा से पेंट भी किया गया था. खुफिया एजेंसी के जांचकर्ताओं ने घटनास्थल से कई सैंपल इकट्ठे किए हैं. ताकि इस हमले की तह तक पहुंचा जा सके.

जांच में फिलहाल गाड़ी के बारे में यही दो जानकारियां मिली हैं. इसलिए अभी कोई निश्चित निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता है. खुफिया एजेंसी के अधिकारियों द्वारा शुक्रवार को दोबारा घटनास्थल की जांच की गई है. जहां से कई सैंपल्स इकट्ठे किए गए हैं. घटनास्थल के अलावा आस-पास के इलाकों की जांच की जा रही है.


इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, जांचकर्ताओं को एक जैरीकेन (तरल पदार्थ रखने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला) और धातु का टुकड़ा मिला था. जांचकर्ताओं द्वारा आशंका जताई जा रही है कि 20-25 लीटर की क्षमता वाले जैरीकेन को 30 किलो RDX रखने के लिए इस्तेमाल किया गया था, जिसे गाड़ी में आसानी से रखा जा सके. वहीं, मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि गाड़ी का रंग लाल था. गाड़ी के जो हिस्से मिले हैं, उनकी जांच की जाएगी ताकि गाड़ी के बनने और बिकने की तारीख का पता चल सके.

जम्मू-कश्मीर में हाई अलर्ट के बाद अर्धसैनिक बलों की 100 कंपनियां तैनात, यासीन मलिक गिरफ्तार

कश्मीर में हुई गाड़ियों की चोरी से संबंधित FIR की भी जांच की गई है, लेकिन फिलहाल कोई सबूत नहीं मिले हैं. जांचकर्ताओं का कहना है कि गाड़ी की चोरी या तो राज्य के बाहर की गई थी या फिर गाड़ी चोरी की नहीं है. पुलवामा हमले के बाद गाड़ी को चलाने वाले की पहचान आदिल अहमद डार के रूप में हुई थी. आदिल के परिवार के DNA नमूने भी जल्द लिए जाएंगे. जिनकी जांच घटनास्थल पर मिले नमूने से की जाएगी.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को CRPF के जवानों पर आतंकी हमला हुआ था. जिसमें CRPF के 40 जवान शहीद हो गए. इस हमले में आतंकियों ने गाड़ी में विस्फोटक भरकर सीआरपीएफ के काफिले पर धमाका किया था. ये धमाका इतना तेज था कि वाहन का मलवा 150-200 मीटर दूर तक गया और आसपास के रिहाइशी इलाकों तक भी पहुंच गया. अधिकारी ने बताया कि गाड़ी के कुछ नए पर्ट्स भी बरामद कर लिए गए हैं और इनकी भी जांच की जाएगी.

पुलवामा हमले के बाद स्थिति बेहद खराब, भारत कुछ महत्वपूर्ण सोच रहा है: डोनाल्ड ट्रंप

First published: 23 February 2019, 12:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी