Home » इंडिया » Case registered against Dayashankar Singh for his derogatory remarks on Mayawati
 

मायवाती को अपशब्द कहने वाले दयाशंकर सिंह बीजेपी से छह साल के लिए निलंबित

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 July 2016, 10:29 IST
(पीटीआई)

बसपा अध्यक्ष मायावती के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. सोमवार को बयान के बाद बीजेपी ने दयाशंकर सिंह को यूपी उपाध्यक्ष समेत सभी पदों से हटा दिया था.

मायावती को अपशब्द कहने के आरोप में बसपा नेताओं ने दयाशंकर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. उनके खिलाफ एससी-एसटी एक्ट समेत कई दूसरी धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. 

बसपा नेताओं ने दर्ज कराया केस

इस बीच विवादित बयान पर चौतरफ़ा हमले झेल रही बीजेपी ने दयाशंकर सिंह को छह साल के लिए पार्टी से निलंबित कर दिया है. इस मुद्दे पर बुधवार को राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ. मायावती समेत तमाम विपक्षी दलों ने दयाशंकर सिंह के आपत्तिजनक बयान पर पार्टी को आड़े हाथों लिया था.

बसपा में टिकटों की बिक्री का आरोप लगाते हुए यूपी बीजेपी उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ डाली थीं. बीजेपी के यूपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को उन्हें पार्टी के सभी पदों से हटा दिया था.

प्राथमिक सदस्यता से निलंबित

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है, "हमने बुधवार को दयाशंकर सिंह को छह साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित करने का फैसला लिया है."

पढ़ें: यूपी बीजेपी उपाध्यक्ष के अश्लील बयान के बाद संसद में बरसीं मायावती

इससे पहले दयाशंकर सिंह बयान पर मचे बवाल के बाद माफी मांगी थी. दयाशंकर सिंह ने पूरे मामले पर खेद व्यक्त करते हुए कहा, "मायावती जी एक वरिष्ठ नेता हैं. मेरी मंशा ऐसी नहीं थी, जो मेरे शब्दों से जाहिर होता है. मेरे बयान से उन्हें ठेस पहुंची है, तो मैं तुरंत उनसे माफी मांगता हूं."

मऊ में दिया था आपत्तिजनक बयान

दयाशंकर सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर ऐसी टिप्पणी कर दी थी, जिसने एक बड़े सियासी बवाल को जन्म दे दिया.

दयाशंकर ने कहा था, "मायावती टिकट बेच (चुनाव लड़ने के लिए) रही हैं. वे बेहद बड़ी नेता हैं, तीन बार की मुख्यमंत्री. लेकिन वे उन्हें टिकट दे रही हैं जो उन्हें एक करोड़ रुपये दे रहा है. यदि दोपहर को कोई दो करोड़ रुपये लेकर आ जाएगा तो वे उसे टिकट दे देंगी. यदि कोई शाम को तीन करोड़ लेकर आएगा तो वे पिछले प्रत्याशी का टिकट खारिज करते हुए उसे बतौर प्रत्याशी चुन लेंगी. उनका चरित्र ... से भी बदतर है."

पढ़ें: मायावती को अपशब्द कहने वाले बीजेपी नेता सभी पदों से बर्खास्त, मांगी माफी

इस टिप्पणी को लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में खेद व्यक्त किया. राज्यसभा में जेटली ने कहा, "यह सही नहीं है और मैं ऐसे शब्दों के उपयोग की निंदा करता हूं और अगर किसी व्यक्ति ने ऐसा कहा है तो हम इसकी जांच करेंगे. मैं निजी तौर पर खेद व्यक्त करता हूं.

जेटली ने कहा, "मैं आपके सम्मान के साथ संबद्ध हूं और आपके साथ खड़ा हूं." वहीं केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी इस टिप्पणी पर खेद जताया था. उन्होंने कहा, "हमारे बीच मतभेद हो सकते हैं, लेकिन हम मायावती जी का आदर करते हैं."

First published: 21 July 2016, 10:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी