Home » इंडिया » PM Modi appeals for calm and peace on Cauvery protest, CM says We have full confidence in judiciary
 

कावेरी पर कर्नाटक में कोहराम: अब तक दो की मौत, चित्रदुर्ग में फूंका ट्रक

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(एएनआई)

कावेरी नदी के पानी पर कर्नाटक में कोहराम मचा हुआ है. राज्य के बेंगलुरु और मैसूर समेत कई शहरों में हिंसक प्रदर्शन जारी हैं. इस बीच प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई के दौरान अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है.

राजधानी बेंगलुरु में प्रदर्शन के दौरान उग्र भीड़ पर काबू पाने के लिए सोमवार को पुलिस ने फायरिंग की थी. जिसमें एक शख्स की गोली लगने से मौत हो गई. इस बीच मंगलवार को शहर के एक अस्पताल में भर्ती एक और व्यक्ति की मौत हो गई है. पुलिस कार्रवाई के दौरान यह शख्स छत से गिर गया था.

कर्नाटक में हिंसक प्रदर्शनों का सिलसिला अब भी जारी है. प्रदर्शनकारियों ने चित्रदुर्ग इलाके में नेशनल हाईवे-4 पर एक ट्रक को आग के हवाले कर दिया. इससे पहले सोमवार को भी बेंगलुरु में एक डिपो के अंदर दर्जनों बसों को फूंक दिया गया था. तमिलनाडु में कर्नाटक रजिस्ट्रेशन नंबर और कर्नाटक में तमिलनाडु की गाड़ियों को निशाना बनाए जाने की खबरें मिली हैं.

हालात पर केंद्र की नजर

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कावेरी नदी के जल बंटवारे को लेकर अपने आदेश में बदलाव किया था, जिसके बाद सोमवार को बेंगलुरु और कर्नाटक के कुछ हिस्सों में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई.

तमिलनाडु में भी कई जगह हालात काबू से बाहर हो गए. पुलिस ने उस समय गोली चलाई, जब भीड़ ने राजागोपाल नगर थाना क्षेत्र के हेग्गनहल्ली में एक गश्ती वाहन पर हमले की कोशिश की. गुस्साई भीड़ ने तमिलनाडु के नंबर वाली बसों और ट्रकों में आग लगा दी.

कर्नाटक और तमिलनाडु के हालात पर केंद्र ने भी पैनी नजर बना रखी है. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्र‍ियों से सोमवार को बात की.

गृह मंत्री ने दोनों राज्यों को केंद्र की तरफ से पूरी मदद का आश्वासन दिया है. केंद्र ने कर्नाटक में हालात पर काबू पाने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स की सात और कंपनियां भेजी हैं. तमिलनाडु के होसूर में भी कावेरी जल विवाद को लेकर आम जनजीवन पर असर पड़ा है.

पीएम मोदी की शांति की अपील

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कावेरी जल विवाद पर कर्नाटक और तमिलनाडु की जनता से शांति की अपील की है. प्रधानमंत्री ने ट्वीट के जरिए दोनों राज्यों में हिंसा और तनाव पर चिंता जताई है.

पीएम मोदी ने कहा, "पिछले दो दिन में हिंसा और आगजनी की घटनाओं से केवल गरीब और हमारे देश की संपत्ति का नुकसान हुआ है. हिंसा किसी भी मुद्दे का समाधान नहीं है. लोकतंत्र में आपसी बातचीत और कानूनी दायरे में ही समस्या का निपटारा हो सकता है."

पीएम ने आगे ट्वीट किया, "जब भी देश ने विपरीत हालात का सामना किया, सारे देश के लोगों की तरह तमिलनाडु और कर्नाटक के लोगों ने बहुत ही संवेदनशीलता के साथ हालात को संभाला है."

पीएम ने कहा, "मैं दोनों राज्यों के लोगों से अपील करता हूं कि संवेदनशीलता प्रदर्शित करते हुए अपनी नागरिक जिम्मेदारियों का भी ख्याल रखें. मुझे भरोसा है कि आप राष्ट्रहित और राष्ट्रीय कर्तव्य को सबसे ऊपर रखेंगे. साथ ही हिंसा और तोड़फोड़़ का रास्ता छोड़कर शांति सद्भाव और मसले का हल निकालने पर ध्यान देंगे."

पीएम से दखल देने की मांग

इस बीच प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया से सवाल पूछा गया कि क्या आज तमिलनाडु के लिए पानी छोड़ा गया, तो सीएम ने जवाब दिया, "हां आज हम पानी छोेड़ रहे हैं. मैंने प्रधानमंत्री को खत लिखकर मामले में दखल देने की मांग की है और उनसे जल्द मुलाकात का वक्त मांगा है."

सीएम सिद्धारमैया ने कहा, "ज्यादा संभावना है कि मैं कल प्रधानमंत्री से मुलाकात करूंगा." सीएम ने बताया कि जिन संवेदनशील इलाकों में गणेश चतुर्थी, ओणम और बकरीद मनाई जा रही है, वहां सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

'न्यायपालिका पर पूरा भरोसा'

सीएम ने कहा, "यह सही है कि हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं है. हमें समाज में शांति और सौहार्द बनाए रखना होगा. लेकिन समस्या की शुरुआत सोमवार को मैसूर रोड से हुई, इसलिए आज हमने वहां ज्यादा सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया है. मैं पीएम मोदी से तमिलनाडु की सीएम जयललिता से बात करने की भी गुजारिश करूंगा." 

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. एक बार फिर मैं सभी से सहयोग देने की अपील करता हूं.

इसके साथ ही सीएम ने जानकारी दी कि टीवी चैनलों से मिले वीडियो फुटेज के आधार पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और आगजनी करने वाले 350 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है.

First published: 13 September 2016, 4:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी