Home » इंडिया » Cauvery row updates: Day-long bandh in Tamil Nadu, Stalin, Kanimozhi court arrest
 

कावेरी जल विवाद: तमिलनाडु में बंद के दौरान कई नेता गिरफ्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 September 2016, 12:48 IST
(एएनआई)

कावेरी जल विवाद को लेकर किसानों एवं व्यापारिक संगठनों ने तमिलनाडु में शुक्रवार को एक दिन के बंद का आह्वान किया है. कावेरी के जल की मांग करने और कर्नाटक में तमिल लोगों को निशाना साधकर की गई हिंसा के विरोध में यह बंद बुलाया गया है.

सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक, उसके सहयोगियों एवं उससे संबद्ध श्रमिक संघों को छोड़कर द्रमुक, तमिलनाडु कांग्रेस, डीएमडीके, एमडीएमके, वाम दलों और पीएमके समेत अन्य सभी विपक्षी दल बंद का समर्थन कर रहे हैं.

सशस्त्र रिजर्व बलों समेत हजारों पुलिसकर्मियों को तमिलनाडु में तैनात किया गया है और चेन्नई में 15,000 पुलिसकर्मी ड्यूटी पर हैं. सुरक्षा के मद्देनजर तमिलनाडु-कर्नाटक चेक पोस्ट बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है.

बंद का तमिलनाडु में व्यापक असर देखा जा रहा है. राजधानी चेन्नई समेत तमाम इलाकों में दुकानें, दफ्तर, स्कूल और कॉलेज बंद दिख रहे हैं.

तमिलनाडु के कई बड़े शहरों जैसे कोयंबटूर में भी बंद का असर दिख रहा है. सड़कें पूरी तरह से खाली दिखाई दे रही हैं वहीं दुकानें भी बंद हैं.

डीएमके की ओर से भी कई इलाकों में प्रदर्शन का आयोजन किया गया है. डीएमके की नेता कनिमोझी और एमडीएमके नेता वाइको भी अपने समर्थकों के साथ विरोध प्रदर्शन करते नजर आए. जिन्हें बाद में पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

डीएमके चीफ एमके स्टालिन को भी तिरचिरापल्ली में विरोध प्रदर्शन के दौरन गिरफ्तार कर लिया गया है.

बंद के दौरान कई जगह रेलगाड़ियों को भी रोका जा रहा है. तमिनाडु किसान संघ के कार्यकर्ता सेदापट रेलने स्टेशन पर पटरी पर बैठे हुए हैं. 

इसके अलावा डीएमके और वीसीके पार्टी के कार्यकर्ता भी होसूर में रेल रोको अभियान चला रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक को पहले 15 हजार क्यूसेक पानी रोजाना तमिलनाडु को देने को कहा था.

इसी के बाद कर्नाटक में तमाम जगहों पर विरोध प्रदर्शन हुए. सुप्रीम कोर्ट ने 5 सितंबर को अपने आदेश में बदलाव करते हुए कर्नाटक से कहा कि वह 20 सितंबर तक तमिलनाडु को 12,000 क्यूसेक कावेरी का पानी दे. यह फैसला आने के कुछ ही घंटे बाद हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए थे.

First published: 16 September 2016, 12:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी