Home » इंडिया » CBI court discharges Gujarat ex-IPS DG Vanzara in Sohrabuddin Sheikh encounter case in Maharashtra
 

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस में डीजी वंजारा बरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2017, 17:33 IST

सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस में गुजरात के पूर्व DIG डीजी वंजारा को बड़ी राहत मिली है. मंगलवार को मुंबई की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने उन्हें इस मामले में बरी कर दिया है.

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस 2005 में हुआ था. इस केस में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत कई नेताओं को पहले ही बरी किया जा चुका है.

गौरतलब है कि डीजी वंजारा 9 साल बाद 2016 में गुजरात लौटे थे. वंजारा 8 साल इस मामले में जेल में रहे. जेल से रिहा होने के बाद जब वो गुजरात लौटे थे, इस दौरान उनका ढोल नगाड़ों के साथ स्वागत हुआ था. इस केस में स्पेशल कोर्ट ने राजस्थान के आईपीएस अधिकारी एमएन दिनेश को भी बरी कर दिया.

2007 में हुई थी गिरप्तारी

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में अप्रैल 2007 में वंजारा को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद इशरत जहां एनकाउंटर मामले में भी उन्हें गिरफ्तार किया गया. स्पेशल सीबीआई कोर्ट से इशरत जहां और सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में जमानत पर रिहा हुए वंजारा को गुजरात में प्रवेश की अनुमति मिल गई है.

ये थे आरोप

मामले की जांच करने वाली सीबीआई के मुताबिक, शेख तथा उसकी पत्नी कौसर बी को गुजरात एटीएस की टीम ने कथित तौर पर तब पकड़ा था, जब वे बस से आंध्र प्रदेश के हैदराबाद से महाराष्ट्र के सांगली जा रहे थे.

शेख को गांधीनगर के निकट मुठभेड़ में मार गिराया गया था, जबकि उसकी पत्नी को कुछ दिनों बाद मारा गया था. शेख को वैश्विक आतंकवादी संगठन से जुड़ा बताया गया और कहा गया कि वह 'हमले की साजिश' कर रहा था.

जेल से रिहा होने के बाद वंजारा ने गुजरात कि धरती पर पैर नहीं रखा था और महाराष्ट्र चले गए थे. उन्होंने कहा था, "मुझे इस बात की खुशी है कि इतने साल बाद मैं अपने घर आया हूं. मेरा जो स्वागत हो रहा है वो गुजरात पुलिस का है, ये हिंदुस्तान के देश भक्त का स्वागत है."

First published: 1 August 2017, 17:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी