Home » इंडिया » CBI Dispute: Shiv Sena attacks Modi Govt in Saamana editorial says Rakesh Asthana is Sharp shooter of BJP
 

'CBI मोदी सरकार के घर बंधा हुआ कुत्ता, राकेश अस्थाना हैं BJP के शार्प शूटर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 October 2018, 15:16 IST

CBI में उपजे विवाद को लेकर मोदी सरकार की चारों तरफ आलोचना हो रही है. इसे लेकर शिवसेना ने भी मोदी सरकार पर हमला बोला है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में सीबीआई को मोदी सरकार का कुत्ता कहा है. इसके अलावा शिवसेना ने सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को बीजेपी का शार्प शूटर बताया है.

सामना के संपादकीय में एक लेख लिखा गया है, जिसका शीर्षक 'चॉपस्टिक की काड़ी' है. शिवसेना ने इस लेख के जरिए पीएम मोदी के जापान दौरे पर चॉपस्टिक से खाना सीखने और देश की सीबीआई में हो रहे हंगामों का उल्लेख कर मोदी सरकार को निशाने पर लिया है.

शिवसेना ने लिखा है कि दिल्ली की राज व्यवस्था की स्थिति 'तांगा पलटा, घोड़े फरार' जैसी दिखाई दे रही है. शिवसेना ने लिखा कि पहले हमारी न्याय व्यवस्था में बगावत हुई और 4 प्रमुख न्यायमूर्तियों ने पत्रकार परिषद बुलाकर बगावत की. अब सीबीआई में उसी तरह का कोहराम दिखाई दे रहा है.

सीबीआई ने लिखा, "यह सब कुछ देश में हो रहा है, वहीं मोदी जापान दौरे पर थे और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे उन्हें प्लास्टिक के चॉपस्टिक से खाना किस तरह खाया जाए, इसका प्रशिक्षण दे रहे थे! यहां देश में अराजक स्थिति है और जापान में प्रधानमंत्री मोदी 'चॉपस्टिक डांडिया' खेलते हुए दिखाई दे रहे हैं.

शिवसेना ने लिखा कि सीबीआई पर पहले भी आरोप लगे हैं, लेकिन आज जिस तरह से कीचड़ उछल रहा है, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ. सीबीआई, भाजपा सरकार के घर बंधा हुआ कुत्ता है. उस कुत्ते के पेट में आज कोई भी लात मार रहा है.

शिवसेना ने लिखा कि मोदी सरकार द्वारा नामित विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने प्रधानमंत्री कार्यालय के नाम पर जो सीधे हस्तक्षेप किए, उसी की वजह से वर्मा बनाम अस्थाना गिरोह युद्ध सीबीआई में जारी हुआ. इससे राष्ट्रीय सुरक्षा और प्रशासन की धज्जियां उड़ गईं.

शिवसेना ने लिखा कि अस्थाना गुजरात कैडर के अधिकारी हैं और मोदी-शाह के अत्यंत विश्वसनीय हैं. उनकी निष्पक्षता पर आशंका है और वह भाजपा के शार्प शूटर के रुप में ही जाने जाते हैं. 2002 में गुजरात के गोधरा में हुए साबरमती एक्सप्रेस अग्निकांड मामले की जांच के प्रमुख के रुप में भी तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी ने इन्हीं की नियुक्ति की थी.

First published: 31 October 2018, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी