Home » इंडिया » CBI officers Abused My Wife, Tortured My Family: BK Bansal’s Suicide Note, amit shah's name surfaced
 

'मैं सीबीआई के टॉर्चर की वजह से सुसाइड कर रहा हूं', बीके बंसल के सुसाइड नोट में अमित शाह का भी नाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
QUICK PILL
  • कॉरपोरेट अफेयर्स के पूर्व डीजी बीके बंसल ने अपने कथित सुसाइड नोट में सीबीआई के डीआईजी संजीव गौतम समेत कई अधिकारियों पर ख़ुदकुशी के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है. 
  • इस नोट में यह भी लिखा है कि पूछताछ के नाम पर उन्हें कथित तौर पर प्रताड़ित करने वाले डीआईजी ने उनसे कहा था कि वह अमित शाह के आदमी हैं. उनका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता.

मंगलवार को अपने बेटे समेत ख़ुदकुशी करने वाले पूर्व नौकरशाह बीके बंसल के कथित सुसाइड नोट से कई सनसनीख़ेज़ खुलासे हुए हैं. उन्होंने अपनी और बेटे की ख़ुदकुशी के लिए सीबीआई को सीधे तौर पर ज़िम्मेदार ठहराया है. इस सुसाइड नोट में बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह का भी नाम है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई राजनीतिक हस्तियों ने इस नोट को सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

सुसाइड नोट में लिखा है, 'मैं यह सुसाइड सीबीआई के टॉर्चर की वजह से कर रहा हूं. 18 औक 19 जुलाई को सीबीआई की दो लेडी ऑफिसर्स ने बहुत ही बुरी तरह टॉर्चर किया जो कि मेरी पत्नी ने अपनी दोस्तों और पड़ोसियों को बताया था. मेरी पत्नी को थप्पड़ मारे, नाखून भी चुभोए और बहुत ही गंदी-गंदी गालियां दीं.' 

सात पन्नों के इस लंबे सुसाइड नोट में एक जगह लिखा है, 'अगर मेरी गलती थी भी तो मेरी वाइफ़ और डॉटर को सुसाइड क्यों करवाया गया टॉर्चर करके. यह सिंपली दो लेडीज़ का मर्डर था, इसे सुसाइड नहीं कहा जा सकता.' इस नोट में सीबीआई के डीआईजी संजीव गौतम पर सवाल उठाते हुए लिखा हैै, 'डीआईजी संजीव गौतम, दोनों लेडी ऑफिसर और मोटे हवलदार का लाइ डिटेक्टर टेस्ट करवाया जाए. सब सच सामने आ जाएगा. डीआईजी ने कहा था कि मैं अमित शाह का आदमी हूं. मेरा कोई क्या बिगाड़ेगा. तेरी वाइफ़ और डॉटर का वो हाल करेंगे कि सुनने वाले भी कांप जाएंगे.'

इस चिट्ठी में बार-बार सीबीआई के अफ़सरों को कटघरे में खड़ा किया गया है. एक जगह इसमें लिखा है, 'मैंने सुना था कि सीबीआई टफ़ है लेकिन इतना मालूम नहीं था कि डीआईजी संजीव गौतम, दो लेडी ऑफिसर्स व मोटे हवलदार जैसा मारने वाला मर्डर/टॉर्चर भी सीबीआई करती है. ये दोनों (वाइफ एंड डॉटर) का सुसाइड नहीं बल्कि मर्डर है सीबीआई द्वारा.' नोट में एक अफ़सर प्रमोद त्यागी को भला इंसान भी बताया गया है. 

कॉरपोरेट अफेयर्स के पूर्व डीजी बीके बंसल और उनके बेटे योगेश ने मंगलवार को ख़ुदकुशी की थी. घर में काम करने वाली मेड रचना जब मंगलवार की सुबह साढ़े आठ बजे पटपड़गंज स्थित नीलकंठ अपार्टमेंट में बसंल के फ्लैट पर पहुंची तो उन्होंने दोनों को मरा हुआ पाया. बंसल की डेडबॉडी ड्राइंग रूम में थी जबकि उनके बेटे योगेश बेडरूम में पड़े थे. डीसीपी ऋषिपाल ने शुरुआती जांच के बाद कहा था,  'ऐसा लगता है कि सुसाइड की कोशिश रात दो से तीन बजे के बीच की गई है.' इससे दो महीने पहले 19 जुलाई को उनकी पत्नी सत्यबाला और बेटी नेहा ने भी सुसाइड किया था. 

पड़ोसियों के मुताबिक बंसल और उनके बटे मौजूदा केस और घर में हुई दो मौतों की वजह से बेहद दुखी थे. वो ज़्यादातर वक़्त किसी से बात करने की बजाय चुप रहते थे. वहीं नोट में सीबीआई के अधिकारियों का नाम आने के बाद एजेंसी ने कहा कि आरोपों की जांच की जाएगी. 

बसंल को 16 जुलाई को 9 लाख रुपए की रिश्वत लेकर एक कंपनी को फायदा पहुंचाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था. दिल्ली की एक अदालत ने उन्हें 30 अगस्त को ज़मानत पर रिहा कर दिया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीबीआई ने मंगलवार को पूछताछ के लिए उन्हें समन भेजा था.

First published: 28 September 2016, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी