Home » इंडिया » CBI WAR: CBI infighting: Two top officials move Delhi High Court in connection with bribery case move Delhi High Court in connection with br
 

CBI संग्राम : अब विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने खटखटाया अदालत का दरवाजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 October 2018, 14:14 IST

सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने अब दिल्ली हाईकोर्ट ने एक याचिका दायर की है. इस याचिका में अस्थाना ने एजेंसी द्वारा उनके खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को रद्द करने की मांग की है. साथ ही अस्थाना ने यह भी अनुरोध किया है कि उनके खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाये. इससे पहले सीबीआई ने अपने एक उप पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया था. मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन और न्यायमूर्ति वीके राव की पीठ मंगलवार दोपहर को इस मामले पर सुनवाई करेगी.

देवेंद्र कुमार व्यवसायी मोइन कुरेशी से जुड़े एक मामले में जांच अधिकारी थे, जिसमे उन पर पर प्रमुख गवाह व्यवसायी सतीश सना के बयान को रिकॉर्ड करने में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया गया है.अगस्त में अस्थाना ने आरोप लगाया था कि सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने सना को मामले में राहत पाने के लिए रिश्वत दी थी.

सना मोइन कुरैशी से 50 लाख रुपये लेने के मामले में जांच के घेरे में था. इस मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी का नेतृत्व अस्थाना कर रहे थे. सीबीआई ने साना की शिकायत के आधार पर स्पेशल डायरेक्टर अस्थाना, सीबीआई डीएसपी देवेंद्र कुमार, मनोज प्रसाद, कथित बिचौलिए सोमेश प्रसाद और पर भी मामला दर्ज किये.

इस महीने की शुरुआत में सीबीआई ने मामले में पहली एफआईआर दायर की थी, जिसमे सीबीआई में नम्बर-2 अस्थाना का नाम था. शिकायत में एक्सटर्नल इंटलीजेंस एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के विशेष निदेशक सामंत कुमार गोयल का भी नाम है, हालंकि गोआल का नाम आरोपी के रूप में नहीं है. एजेंसी ने टेलीफोन इंटरसेप्ट्स, व्हाट्सएप संदेश, एक मनी ट्रेल और एक संदिग्ध बिचौलियों का बयान प्रस्तुत किया है.

ये भी पढ़ें : CBI ने अपने ही अफसर को किया गिरफ्तार, स्पेशल डायरेक्टर पर शिकंजा कसने की तैयारी

 

First published: 23 October 2018, 14:14 IST
 
अगली कहानी