Home » इंडिया » cbsc board exams will take place in month of February instead of march from next year.
 

CBSE बोर्ड: अगले साल से मार्च की जगह इस महीने होंगी 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2017, 17:00 IST

अगले साल यानी 2018 से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का समय बदल गया है. साल 2018 से सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं मार्च की जगह फरवरी महीने में होंगी. दरअसल सीबीएसई बोर्ड चाहता है कि उसे परीक्षाओं के बाद स्टूडेंट्स की उत्तर पुस्तिका जांचने के लिए पर्याप्त समय मिले, ताकि किसी तरह की गड़बड़ी न हो.

सीबीएसई बोर्ड ने इस संबंध में योजना का खाका तैयार कर लिया है. अब बोर्ड की परीक्षा 45 दिन से ज्यादा नहीं चलेगी, बल्कि इसे एक महीने में ही पूरा करने की कोशिश की जाएगी. मौजूदा टाइम टेबल में बोर्ड परीक्षाएं 1 मार्च से शुरू होती हैं और 20 अप्रैल के अास-पास खत्म होती हैं.

सीबीएसई के चेयरमैन आर के चतुर्वेदी ने कहा, "इन बदलावों से नतीजे भी जल्दी घोषित हो सकेंगे, जो कि वर्तमान में मई के तीसरे या चौथे सप्‍ताह तक जारी होते हैं. रिजल्ट जल्दी आने से स्टूडेंट्स को अंडरग्रेजुएट एडमिशन प्रक्रिया के लिए ज्‍यादा समय मिलेगा. वह तमाम विकल्पों पर विचार कर पाएंगे."

चतुर्वेदी ने कहा कि चूंकि अप्रैल के अंत से छुट्टियां शुरू हो जाती हैं और कॉपी चेक करने के लिए टीचर्स नहीं मिल पाते. ऐसे में मार्च मध्‍य से कॉपी चेक करने का काम शुरू हो तो बोर्ड को काफी मदद मिलेगी. बोर्ड को उम्मीद है कि नई स्कीम के तहत अच्छे और अनुभवी अध्यापक भी कॉपी चेकिंग के आएंगे. इसके अलावा वह कॉपी जांचने वालों के लिए दो ट्रेनिंग सेशन आयोजित करेगी.

हाईकोर्ट ने मूल्याकंन को लेकर उठाया था सवाल

दिल्ली हाई कोर्ट ने सीबीएसई के मूल्यांकन को लेकर सख्त टिप्पणी की थी. दरअसल, उत्तर पुस्तिकाओं के पुनर्मूल्यांकन पर रोक संबंधी सीबीएसई के नोटिफिकेशन के खिलाफ देश भर में लगाई जा रही याचिकाओं को देखते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने इसकी समीक्षा का निर्णय लिया है.

First published: 21 June 2017, 17:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी