Home » इंडिया » CBSE class 12th textbook says, perfect female figure is 36-24-36
 

12वीं की किताब में महिलाआें के फिगर पर मचा बवाल कितना जायज़ है?

ऋचा मिश्रा | Updated on: 13 April 2017, 15:37 IST
CBSE text book

सीबीएसई स्कूलों में 12वीं में पढ़ाई जाने वाली फिजिकल एजुकेशन की किताब में महिलाओं के फिगर के बारे में बताया जा रहा है. किताब में लिखा है कि जिन लड़कियों का फिगर 36-24-36 होता है, वे सबसे बेस्ट होती हैं. दरअसल, किताब में एक पुरुष और महिला की फिटनेस के मानकों के बारे में बताया गया है. इन मानकों ने नर्इ बहस को पैदा कर दिया है. 

किताब में इस बात को भी बताया गया है कि लड़कियों का फिगर 36-24-36 को मिस वर्ल्ड और मिस यूनिवर्स कंपटीशन में भी यही फिगर ध्यान में रखा जाता है. किताब के कंटेंट में इस बात का भी जिक्र है कि अगर वे ऐसा फिगर चाहते हैं, तो एक्सरसाइज करें. इस किताब में पुरुषों के बेस्ट बाॅडी शेप के बारे में भी बताया गया है, जो वी बाॅडी शेप माना गया है. 

CBSE text book

विवादित कंटेंट पर सीबीएसई ने दी सफार्इ
यह मामला बुधवार को सोशल मीडिया पर छाया रहा. वहीं, सीबीएसई ने इस किताब से खुद को अलग करते हुए कहा, ‘यह किताब हमारी नहीं है. एक प्राइवेट पब्लिशर की है. हम अपने संबद्ध स्कूलों से किसी भी प्राइवेट पब्लिशर की किताब पढ़ाने को नहीं कहते.'

कंटेंट के लिए प्राइवेट पब्लिकेशन है जिम्मेदार
इसको लेकर सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्रतिक्रिया जाहिर कर रहे हैं. डॉ. वीके शर्मा की लिखी और दिल्ली स्थित न्यू सरस्वती हाउस प्रकाशन की 'हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन' शीर्षक वाली किताब सीबीएसई बोर्ड के कई स्कूलों में पढ़ाई जा रही है.

इस किताब के कंटेंट ने सोशल मीडिया पर बहस छेड़ दी है कि आखिर बच्चों को ये किस तरह की शिक्षा दी जा रही है. हालांकि इस मामले के तूल पकड़ने के बाद मिनिस्ट्री ऑफ ह्यूमन रिसोर्स डिपार्टमेंट ने पब्लिशिंग हाउस के खिलाफ एक्शन लिए जाने की बात कही है. 

First published: 13 April 2017, 13:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी