Home » इंडिया » CBSE Paper Leak: All India Democratic Students' Organisation holds a protest at Jantar Mantar in Delhi
 

CBSE पेपर लीक: जंतर-मंतर पर हजारों छात्रों का हल्ला-बोल, CBSE ऑफिस के बाहर भी प्रदर्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 March 2018, 15:47 IST

सीबीएसई के 10वीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के बाद देश में बवाल मच गया है. इसे लेकर विपक्षी पार्टियां मोदी सरकार पर हमलावर हैंं. वहीं पुन: परीक्षा कराए जाने को लेकर स्टूडेंट्स और अभिभावकों में आक्रोश है. गुरुवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर कई छात्र संगठनों ने इसके खिलाफ प्रदर्शन किया.

जंतर-मंतर पर जुटे हजारों छात्रों और छात्र संगठनों ने इकट्ठे होकर मोदी सरकार पर हल्ला बोला और सीबीएसई के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किया. इससे पहले दिल्ली के कई कोचिंग सेंटरों पर छापे भी मारे गए. पुलिस को शक है कि पेपर लीक मामले में कोचिंग सेंटरों का हाथ हो सकता है. 

एक तरफ जंतर मंतर पर जहां सैकड़ों छात्र सीबीएसई के ख़िलाफ़ नारे लगा रहे हैं. वहीं दोबारा पेपर के ख़िलाफ़ ऑनलाइन याचिका भी दायर हो रही है. 4,000 से ज़्यादा अभिभावक इस अर्जी से जुड़ चुके हैं. परीक्षा के रद्द होने का असर देश के 20 लाख से ज़्यादा बच्चों पर पड़ा है.

पढ़ें- भाजपा सांसद के बोल- रेप करने वालों को सरेआम मार देनी चाहिए गोली

वहीं इस मामले के मास्टरमाइंड बताए जा रहे विद्या कोचिंग सेंटर के मालिक विक्की को हिरासत में भी ले लिया गया है. सरकार ने भी इस मामले पर सफाई दी है. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पेपर लीक की घटना दुखद है. वह छात्रों और उनके परिजनों की परेशानी को समझते हैं. इस घटना से वह सो नहीं पाए हैं.

प्रदर्शन कर रहे छात्रों और पैरंट्स का कहना है कि या तो सभी विषयों की परीक्षा फिर से होनी चाहिए या फिर किसी भी विषय की नहीं. पैरंट्स का कहना है कि परीक्षा के लिए बच्चों के ऊपर मनोवैज्ञानिक दबाव होता है. जिन बच्चों ने पूरी मेहनत और ईमानदारी से अपनी परीक्षा दी उन्हें भी फिर से परीक्षा के तनाव से गुजरना होगा.

First published: 29 March 2018, 15:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी