Home » इंडिया » CBSE Paper leak: police recovered 40 mobile number on which paper was send via whatsapp
 

CBSE Paper leak: पुलिस के हाथ लगे 40 मोबाइल नंबर, जल्द पकड़े जायेंगे आरोपी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 March 2018, 9:02 IST

सीबीएससी पेपर लीक मामले में जांच तेज हो गई है. मामले की जांच में जुटी क्राइम ब्रांच की टीम ने अबतक 25 लोगों से हुई पूछताछ के बाद 40 ऐसे संदिग्ध मोबाइल नंबर स्कैन किए हैं, जिन पर 12वीं औ 10वीं कक्षा के लीक पेपर भेजे गए थे. अब इन नंबरों के आधार पर पेपर लीक मामले की गुत्थी सुलझाई जाएगी.

सूत्रों के अनुसार इन नंबरों में ही छात्रों, कोचिंग सेंटर से जुड़े लोगों, बिचौलियों इस नेटवर्क से जुड़े शिक्षा दलालों का राज छिपा है.इसकी पूरी गहनता के साथ क्राइम ब्रांच जांच कर रही है. पेपर लीक मामले को लेकर क्राइम ब्रांच की टीम ने पंजाबी बाग, मिंयावली, नरेला, बदापुर समेत पश्चिमी दिल्ली के करीब दर्जनों इलाकों में छापेमारी की, पूछताछ के लिए कई लोगों को हिरासत में ले लिया है.

ये भी पढ़ें- कर्नाटक विधानसभा चुनाव: सिद्धारमैया का पलटवार, अमित शाह बताएं कि वो 'हिंदू' हैं या 'जैन

क्या था मामला
स्पेशल कमिश्नर के मुताबिक सीबीएसई का पेपर वॉट्सएप पर लीक हुआ.उन्होंने कहा,''इस पूरे नेटवर्क पर पर्दा उठाने के लिए हमारी टीम दिल्ली और आसपास के इलाकों में छापेमारी कर रही है. पेपर लीक मामले के पूरे लिंक को जोड़ने के लिए साइबर अपराध से जुड़ी तकनीकी टीम कुछ नबर और कंप्यूटर्स के आईपी एड्रेस का पता लगा रही है, जिनके पास लीक पेपर पहले से मौजूद था.''

सीबीएसई के रीजनल डायरेक्टर की शिकायत पर पेपर लीक होने के संबंध में दो मामले दर्ज किए गए हैं. पहला मामला 27 मार्च को दर्ज हुआ, जबकि दूसरा मामला 28 मार्च को दर्ज किया गया. हालांकि, स्पेशल कमिश्नर आर.पी. उपाध्याय ने अभी तक किसी की गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है. उन्होंने बताया कि हमारी टीम कई संदिग्ध लोगों से मामले को लेकर पूछताछ कर रही है.हम सबूत मिलते ही कुछ आरोपियों को गिरफ्तार करेंगे.फिलहाल, हमारी कोशिश सबसे पहले पेपर लीक करने वाले मुख्य शख्स तक पहुंचाना है.

50 पुलिस कर्मियों की टीम करेगी जांच
पेपर लीक मामले की जांच के लिए गठित की गई एसआईटी की टीम में कुल 50 पुलिसकर्मियों को शामिल किया गया है. इसमें दो डीसीपी, चार एसीपी, चार इंस्पेक्टर और एसआई, एएसआई, हवलदार व सिपाही शामिल हैं.इसके अलावा, साइबर क्राइम की एक टीम को भी मामले की जांच में लगाया गया है.यह टीम ई-मेल, व्हॉट्सऐप और मोबाइल नंबरों की जांच में जुटी हुई है.उम्मीद है की पुलिस टीम जल्द इन मोबाइल नंबरों की मदद से इस पूरे फर्जीवाड़े के आरोपियों का पता लगा लेगी.

ये भी पढ़ें- अन्ना का अनशन खत्म कराने पहुंचे देवेंद्र फडणवीस पर फेंका जूता

पेपर लीक इन पेपर को दुबारा करने की मांग बढ़ गयी थी, हालांकि अभी तक बोर्ड ने दोबारा होने वाली परीक्षाओं की तरीकह नहीं बताई है, लेकिन सीबीएसई की तरफ से ये कहा गया है कि इन पेपर्स को दोबारा आयोजित करवाया जायेगा.

First published: 30 March 2018, 9:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी