Home » इंडिया » central govt bear sc and obc student coaching fee
 

एससी-ओबीसी छात्रों की कोचिंग का पूरा खर्च वहन करेगी केंद्र सरकार!

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2016, 12:52 IST
(एजेंसी)

केंद्र सरकार, अनुसूचित जाति और पिछड़े वर्ग के छात्रों के लिए मुफ्त कोचिंग की व्यवस्था लाने जा रही है. इस व्यवस्था के तहत दलित और पिछड़े वर्ग के छात्रों के प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग का पूरा खर्च केंद्र सरकार वहन करेगी.

इससे पहले केंद्र सरकार कोचिंग फीस का अधिकतम 20,000 रुपये खर्च वहन करती थी. बताया जा रहा है कि केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्रालय ने योजना में संशोधन किया है, जिसके तहत केंद्र सरकार अनुसूचित जाति और ओबीसी छात्रों को अच्छी गुणवत्ता की कोचिंग मुहैया कराने के लिए प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थानों को सूचीबद्ध भी किया जाएगा.

अभी 20 हजार है अधिकतम सीमा

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है, "इससे पहले प्रति उम्मीदवार संस्थान को दी जाने वाली कोचिंग फीस की अधिकतम सीमा 20000 रुपये थी. अब हम दोनों वर्गों के छात्रों के कोचिंग का पूरा खर्च वहन करेंगे."

अधिकारी के मुताबिक मंत्रालय प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग देने वाले संस्थानों से भी आवेदन मांगेगा. इसके बाद एक चयन समिति उन संस्थानों के प्रस्ताव पर विचार करेगी. राज्य से एक से अधिक जिलों में शाखाओं वाले प्रतिष्ठित संस्थानों को तरजीह दी जाएगी. 

छह लाख सालाना आय वालों को छूट

इसके अलावा स्थानीय छात्रों को दिया जाने वाला मासिक वजीफा 1500 रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपये कर दिया गया है. वहीं बाहरी छात्रों की मासिक छात्रवृत्ति को 3000 रुपये से बढ़ाकर 5000 रुपये कर दिया गया है.

इसके साथ ही मंत्रालय विकलांग छात्रों को 2000 रुपये का विशेष भत्ता भी देगा. एससी और ओबीसी वर्गों के वह छात्र इस योजना का लाभ ले सकेंगे, जिनके परिवार की सभी माध्यमों से कुल आय छह लाख रुपये सालाना या उससे कम है.

First published: 20 June 2016, 12:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी