Home » इंडिया » central govt sack to arunachal pradesh governor
 

अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल को हटा सकती है मोदी सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:48 IST
(एजेंसी)

अरुणाचल प्रदेश में भारी संवैधानिक संकट के बाद बहाल हुई कांग्रेस की सरकार के लिए राजनीतिक संकट अभी नहीं टला है. खबरों के मुताबिक केंद्र सरकार अरुणाचल प्रदेश के गवर्नर ज्योति प्रसाद राजखोवा को पद से हटा सकती है.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक गृह मंत्रालय के कई जूनियर नेताओं और सीनियर अधिकारियों ने राजखोवा तक केंद्र के इस विचार को पहुंचा दिया है कि उन्हें अपने पद से जल्द ही इस्तीफा दे देना चाहिए.

इसके साथ ही उनसे यह भी कहा जा रहा है कि वह इस्तीफा देने की वजहों में लिखें कि वह ‘तबीयत ठीक ना रहने के चलते’ पद छोड़ रहे हैं, लेकिन गवर्नर राजखोवा पद छोड़ने के मूड में नहीं हैं.

दरअसल, गवर्नर पर विवाद की स्थिति अरुणाचल प्रदेश में सुप्रीम कोर्ट द्वारा कांग्रेस सरकार की बहाली के आदेश के बाद शुरू हुई है. राज्यपाल के फैसलों को सुप्रीम कोर्ट ने असंवैधानिक करार दिया था.

विपक्षी पार्टियां संसद में लगातार अरुणाचल प्रदेश का मुद्दा उठाती रहीं और राजखोवा को वापस बुलाने की मांग होती रही. वहीं अब विपक्ष और गृह मंत्रालय का भी आरोप है कि राजखोवा ने कांग्रेस की सरकार को ‘सताने’ का काम किया है.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 13 जुलाई को कांग्रेस की सरकार को फिर से बहाल करके राजखोवा के निर्णय को असंवैधानिक करार दिया था. राजखोवा ने पहले राष्ट्रपति शासन लगाया था और फिर नई सरकार बनाने के आदेश दे दिए थे.

वह सरकार कांग्रेस के बागी विधायकों ने बीजेपी के साथ मिलकर बनाई थी. कांग्रेस के बागी विधायक कलिखो पुल को मुख्यमंत्री बनाया गया था. जिन्होंने पिछले महीने खुदकुशी कर ली थी.

First published: 3 September 2016, 11:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी