Home » इंडिया » Central Govt taken U turn on EPF Tax, Now amount will be tax free
 

ईपीएफ पर टैक्सः सरकार का यूटर्न, नहीं लगेगा टैक्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 March 2016, 14:23 IST

कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) के 60 फीसदी हिस्से पर टैक्स लगाने के बजट प्रस्ताव को मंगलवार को सरकार ने वापस ले लिया है. विपक्ष द्वारा किए जा रहे भारी विरोध के बाद लोकसभा में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सरकार के इस यूटर्न की घोषणा की. 

दरअसल, 29 फरवरी को पेश किए गए केंद्रीय बजट 2016-17 में वित्त मंत्री ने घोषणा की थी कि 1 अप्रैल 2016 के बाद ईपीएफ में होने वाले 40 फीसदी योगदान पर टैक्स नहीं लगेगा. जिसका सीधा सा मतलब निकलता है कि बाकी बचे 60 फीसदी पर सरकार को टैक्स देना पड़ता. 

इसके बाद सरकार को तमाम विरोधों का सामना करना पड़ा. भारतीय मजदूर संघ (आरएसएस की इकाई) समेत तमाम मजदूर संगठनों के साथ ही विपक्षी दलों ने भी सरकार को घेर लिया. इसके बाद श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने राज्यसभा में कहा कि सरकार सभी पक्षों से बातचीत कर रही है और इस पर विचार किया जाएगा. 

इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उच्च स्तरीय बैठक कर वित्त मंत्री अरुण जेटली से इस फैसले को वापस लेने के लिए कहा. इसके बाद मंगलवार को जेटली ने लोकसभा में फैसला वापस ले लिया. 

राजनीतिक पंडित इसके पीछे की वजह अगले माह से केरल, पश्चिम बंगाल, असम, पुडुचेरी और तमिलनाडु में होने वाले विधानसभा चुनाव को बताते हैं. 

First published: 8 March 2016, 14:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी