Home » इंडिया » central govt will give prize of rs 10000 on best efficiency in hindi
 

हिंदी में 'पारंगत' होने पर बाबूओं को मिलेगा दस हजार का इनाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 February 2016, 19:51 IST

हिंदी को बढ़ावा देने के लिए केंद्र की मोदी सरकार ने भारत सरकार के अधिकारियों और कर्मचारियों को दस हजार रुपए देने की घोषणा की है लेकिन दस हजार पाने के लिए उन्हें 'पारंगत' कोर्स में 70 फीसदी से ज्यादा नंबर लाना होगा.

एनडीए सरकार ने यह कोर्स पिछले साल ही लॉन्च किया गया था. इसके पीछे सरकार की मंशा है कि दफ्तरों में हिंदी को व्यावहारिक तौर पर अच्छ से लागू किया जा सके.

गृह मंत्रालय ने बुधवार को सभी केंद्रीय मंत्रालयों को भेजे एक खत में कहा है कि 'पारंगत' में 60 से 69 फीसदी नंबर लाने वालों को 8 हजार और 55 से 59 फीसदी तक नंबर लाने वालों को 6 हजार रुपये दिए जाएंगे.

इससे पूर्व भी सरकार ने कर्मचारियों को हिंदी अच्छी करने के लिए तीन ट्रेनिंग कोर्स प्रबोध, प्रवीण और प्रज्ञ की शुरुआत की गई थी. लेकिन इसके बावजूद भी सरकारी कर्मचारी हिंदी में अच्छा काम नहीं कर पा रहे थे.

इसे देखते हुए मोदी सरकार ने अप्रैल 2015 में 160 घंटे के कोर्स 'पारंगत' को लॉन्च किया. यह प्रैक्टिस पर आधारित है. इसमें 80 फीसदी समय प्रैक्टिस और बाकी समय सैद्धांतिक पहलुओं पर चर्चा करने में बीतता है.

गृह मंत्रालय ने एक पत्र में लिखा है कि जिन मंत्रालयों और विभागों में अच्छे नंबर लाने वालों को इनामी राशि देने का खर्च वे अपने प्रशासनिक बजट से निकालें और 10 मार्च तक इस पर जवाब दें. कोर्स में प्रशासनिक, वित्त, बैंकिंग, विज्ञान और तकनीकी और शब्दकोष जैसे विषय शामिल हैं.

First published: 27 February 2016, 19:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी