Home » इंडिया » Central minister Dr Harshvardhan asks, Is Human rights only applicable to terrorists
 

मोदी के मंत्री बोले- 'याकूब, बुरहान, बटला पर छाती पीटते हैं, मानवाधिकार आतंकियों के लिए है?'

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2016, 10:57 IST
(पीटीआई)

केंद्र की मोदी सरकार में विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने भोपाल की सेंट्रल जेल से फरार सिमी के कार्यकर्ताओं के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने को लेकर सवाल कर रहे लोगों को आड़े हाथों लिया है.

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने मंगलवार को विपक्षी पार्टियों और बुद्धिजीवियों पर निशाना साधते हुए सवालिया लहजे में कहा, ''मानवाधिकार केवल आतंकवादियों के लिए है, जबकि सैनिकों का जीवन मायने नहीं रखता."

'सैनिकों का जीवन मायने नहीं रखता'

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने ट्वीट किया, ''अफजल, याकूब, इशरत, बुरहान, बटला हाउस एनकाउंटर के लिए वे रोते और छाती पीटते हैं. मानवाधिकार आतंकवादियों के लिए ही है, सैनिकों का जीवन मायने नहीं रखता.''

हर्षवर्धन का इशारा परोक्ष तौर से कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह, आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू सहित मीडिया पर भी था.

भोपाल में सिमी के आठ सदस्यों के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से मामले में स्वतंत्र जांच की मांग की जा रही है. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले की एनआईए से जांच कराने को कहा है.

First published: 2 November 2016, 10:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी