Home » इंडिया » Chairman of Ruia group arrested in delhi
 

धोखाधड़ी के मामले में रुइया समूह के चेयरमैन दिल्ली से गिरफ्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 December 2016, 16:00 IST
(एजेंसी)

रेलवे के साथ धोखाधड़ी के मामले में रुइया समूह के चेयरमैन पवन रुइया को शनिवार शाम बंगाल सीआईडी की पुलिस ने उनके दिल्ली स्थित आवास से गिरफ्तार किया.

पवन रुइया की गिरफ्तारी रेलवे द्वारा दर्ज शिकायत के आधार पर की गई है. पश्चिम बंगाल के आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) के अधिकारी उन्हें गिरफ्तार करने के लिए कोलकाता से दिल्ली से आए थे.

पुलिस के मुताबिक रुइया पर धोखाधड़ी और बेईमानी को लेकर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. अब बंगाल सीआईडी उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली से कोलकाता ले जाएगी.

रेलवे तथा सीआईडी के एक दल द्वारा चार नवंबर को संयुक्त तौर पर एक छापेमारी में जेसप फैक्ट्री से कथित तौर पर गायब 50 करोड़ रुपये मूल्य के रेलवे के उपकरण व कोच पाए जाने के बाद कोलकाता में रेलवे के उपनिदेशक ने दमदम पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई थी.

बताया जा रहा है कि पवन रुइया पर कथित तौर पर कोर्ट के आदेश का उल्लंघन का भी गंभीर आरोप है. कोर्ट ने उन्हें फैक्ट्री परिसर की सुरक्षा करने को कहा था, लेकिन वो इसमें असफल रहे.

बताया जा रहा है कि उनकी फैक्ट्री में आग लगने की भी कई घटनाएं हो चुकी हैं, जिसकी जांच अक्टूबर में सीआईडी को सौंपी गई है.

सीआईडी ने रुइया को 26 अक्टूबर से लेकर 5 नवंबर के बीच चार बार समन जारी किया, लेकिन वह एक बार भी पेश नहीं हुए.

पवन रुइया की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया व्यक्त देते हुए कारोबारी समूह ने सवाल उठाया कि उन्हें इस मामले में कैसे घसीटा जा सकता है.

रुइया समूह की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, "पवन रुइया जेसप एंड कंपनी लिमिटेड में किसी भी पद पर नहीं हैं. न तो वह निदेशक हैं और न ही कंपनी के शेयरधारक हैं. यहां तक कि वह जेसप के परिसर में भी नहीं रहते."

समूह के मुताबिक, "हम इस बात को समझ नहीं पा रहे हैं कि उन्हें मामले में कैसे घसीटा जा सकता है. खैर, उनके खिलाफ लगे सभी आरोपों से हम कानूनी तरीके से निपटेंगे."

First published: 11 December 2016, 16:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी