Home » इंडिया » chandigarh administration to ban short skirts in discotheques
 

चंडीगढ़: डिस्कोथेक में लड़कियों के मिनी स्कर्ट पहनने पर पाबंदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 April 2016, 12:55 IST

केंद्र शासित चंडीगढ़ प्रशासन ने एक आदेश जारी किया है, जिसके मुताबिक डिस्कोथेक में लड़कियों को मिनी स्कर्ट में नहीं आना है.

प्रशासन का कहना है कि महिलाओं का डिस्कोथेक में छोटे कपड़े पहनकर जाना या इस तरह की किसी भी अशिष्टता को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. 

पढ़ें:सुप्रीम कोर्ट: चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर बैन के मामले में केंद्र दो हफ्ते में जवाब दे

प्रशासन ने 'कंट्रोलिंग ऑफ प्लेसेस ऑफ पब्लिक एम्यूजमेंट, 2016' पॉलिसी के तहत एक अप्रैल से डिस्कोथेक में महिलाओं के मिनी स्कर्ट पहनने पर रोक लगाई है. 

2 घंटे पहले बंद होंगे डिस्कोथेक

इस मामले में एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी का कहना है कि पहनावे की वजह से कई बार डिस्कोथेक में असामाजित तत्वों को बढ़ावा मिलता है. लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं भी सामने आती हैं. 

साथ ही प्रशासन ने बार और डिस्कोथेक के समय को भी दो घंटा कम कर दिया है. इस नियम से पहले रात 2 बजे तक बार खुले रहते थे. अब 12 तक बार-डिस्कोथेक बंद करने होंगे. 

पढ़ें:भूलकर भी मत धोएं अपनी जींसः Levi's सीईओ

'कंट्रोलिंग ऑफ प्लेसेस ऑफ पब्लिक एम्यूजमेंट, 2016' पॉलिसी के तहत अगर कोई डिस्कोथेक या बार में महिलाओं को छोटे या भड़काऊ कपड़े में आने की इजाजत देता है तो आगे से उसका लाइसेंस रिन्यू नहीं होगा.

हाईकोर्ट के निर्देश के बाद पॉलिसी


पॉलिसी में भड़काऊ ड्रेस की परिभाषा साफ नहीं है. साथ ही किसी मानक का भी उल्लेख नहीं है. पिछले दिनों डिस्कोथेक में महिलाओं से बदसलूकी की कई घटनाएं सामने आई थीं.

जिसके बाद पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने चंडीगढ़ प्रशासन को बार और डिस्कोथिक को नियंत्रित करने के लिए पॉलिसी बनाने को कहा था.

पॉलिसी के लागू होने के बाद ज्वाइंट होम सेक्रेटरी करनैल सिंह ने कहा, "हमने हाईकोर्ट के निर्देश के मुताबिक ही पॉलिसी बनाई है. हमारा मकसद शहर की नाइट लाइफ को रेग्युलेट करते हुए लॉ एंड ऑर्डर को बेहतर बनाना है."

पढ़ें:हंगामा क्यूं है बरपा ऑनलाइन दवा बिक्री पर पाबंदी के लिए

First published: 20 April 2016, 12:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी