Home » इंडिया » Chandra Grahan in India: 21st century longest lunar eclipse special things
 

103 मिनट तक था सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, खूबसूरती देखकर आंखें खुली रह गईं

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2018, 8:52 IST

27 और 28 जुलाई की रात दुनिया ने सदी का सबसे लंबा चन्द्रग्रहण देखा. करीब 103 मिनट का यह खूबसूरत नजारा देखकर लोगों की आंखें दंग रह गईं. यह नजारा इसलिए लंबा था क्योंकि इस बार चंद्रमा पृथ्वी की छाया के केंद्रीय भाग से होकर गुजर रहा था. यह संयोग 104 साल के बाद बना था.

इस दौरान चांद ने धीरे-धीरे अपना रंग बदलना शुरू किया और एक समय तो ऐसा भी आया जब चांद पूरी तरह से लाल रंग में तब्दील हो गया था. भारत में 27 जुलाई को देर रात करीब 11 बजकर 54 मिनट पर चंद्रग्रहण शुरू हुआ. पहले शुरुआती एक घंटे में आंशिक चंद्रग्रहण रहा लेकिन बाद में इसने पूर्ण चंद्रग्रहण का रूप ले लिया.

चंद्रग्रहण के दौरान देश और दुनिया में लोग इस अद्भुत नजारे को देखने के लिए उतावले थे. लोग आसमान में टकटकी लगाए चांद का दीदार करते रहे. हालांकि, देश में दिल्ली-एनसीआर के अलावा कई जगहों में खराब मौसम होने के कारण चांद साफ नहीं दिख पाया.

बता दें कि आमतौर पर चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा की चमक थोड़ी सी धूमिल होती है लिहाजा ज्यादातर इसका पता नहीं चलता है. लेकिन शुक्रवार की रात करीब 11:53:48 PM बजे जब छाया का ग्रहण आरंभ हुआ, अर्थात चंद्रमा ने पृथ्वी की घनी छाया में प्रवेश करना शुरू किया तो चंद्रमा की गोल आकृति धीरे-धीरे लाल पड़ती गई. धीरे-धीरे इसकी गोल आकृति और भी ज्यादा मुख्य छाया में छुपती गई. और एक समय चांद पूरी तरह लाल हो गया. भारत में करीब देर रात 1 बजे पूर्ण चंद्रग्रहण शुरू हुआ. 

पढ़ें- Chandra Grahan 2018: चंद्र ग्रहण से जुड़े हैं कई मिथ, आप कर सकते हैं नजरअंदाज

इससे पहले शुक्रवार दोपहर पूर्ण चंद्रग्रहण की वजह से देश के कई बड़े मंदिरों को दोपहर में बंद कर दिया गया था. अब शनिवार सुबह जब चंद्रग्रहण खत्म हो गया है तो मंदिरों के कपाट खोल दिए गए हैं. इस मौके पर देश के कई बड़े मंदिरों में विशेष पूजा का आयोजन भी किया गया.

भारत के अलावा यह चंद्रग्रहण म्यांमार, भूटान, पाकिस्तान, अफगानिस्तान चीन, नेपाल, एशिया, अफ्रीका, यूरोप, अंटाकर्टिका, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अमेरिका के मध्य और पूर्वी भाग में दिखाई दिया.

First published: 28 July 2018, 8:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी