Home » इंडिया » Chandrayaan 2 journey on the right path says ISRO
 

Chandrayaan 2: सही दिशा में आगे बढ़ रहा है भारत का चंद्रयान, ISRO के नियंत्रण में मिशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2019, 9:58 IST

Chanrayaan 2 अपनी मंजिल की ओर सही दिशा में आगे बढ़ रहा है. मंगलवार को ISRO ने एक बयान जारी कर इस बारे में जानकारी दी. बता दें कि इसरो यानि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने देश के दूसरे चंद्र मिशन चंद्रयान-2 के सोमवार 22 जुलाई को प्रक्षेपण किया थाप्रक्षेपण के दूसरे दिन यानि मंगलवार को इसरो ने बताया कि चंद्रयान-2 अंतरिक्षयान की सेहत ठीक है और वह सही दिशा में आगे बढ़ रहा है.

देश के सबसे शक्तिशाली रॉकेट GSLV-MK-3-M 1 ने सोमवार दोपहर 2:43 बजे 3,850 किलोग्राम के चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण किया था. इसका प्रक्षेपण आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से किया गया था. चंद्रयान-2 धरती से 3 लाख 84 हजार किलोमीटर की यात्रा पूरी कर 6-7 सितंबर को चंद्रमा की सहत पर लैंड करेगा.

चंद्रयान 2 की यात्रा के बारे में बताते हुए इसरो ने अपने बयान में कहा है कि रॉकेट से अलग होने के बाद यान का सौर उपकरण अपने आप ही सक्रिय और तैनात हो गया है. उसके बाद बंगलूरू स्थित इसरो टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क ने अंतरिक्षयान को अपने नियंत्रण में कर लिया है.

चंद्रयान-2 के लॉन्च होने के कुछ घंटों बात ऑस्ट्रेलिया के आसमान में एक अद्भुत चीज देखी गई. दरअसल, ये तेज रोशनी थी. जिसे देखकर ऑस्ट्रेलिया के लोग हैरान रह गए. हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि ये भारत का चंद्रयान-2 है. बता दें कि सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी क्वींसलैंड और उत्तरी इलाके में लोगों ने आसमान में तेज रोशनी देखी.

उसके बाद लोगों ने इस घटना के बारे में एक चैनल ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन को जानकारी दी. चैनल ने एक प्रत्यक्षदर्शी शौना रॉयस के हवाले से बताया कि शौना ने क्वींसलैंड के जूलिया क्रीक कारवन पार्क के आसमान में सोमवार को स्थानीय समयानुसार रात 7:30 बजे तेज रोशनी देखी. दक्षिणी क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी में खगोलभौतिकी के प्रोफेसर जांटी हॉर्नर ने बताया कि यह कोई एलियन नहीं है, बल्कि यह भारत के चांद पर जाने के निशान हैं. ये चीन और भारत को युग है जो चांद पर जा रहा है.

चांद पर इंसान के पहुंचने के 50 साल पूरे, जानिए कैसे पृथ्वी से आसमान में लगाई थी छलांग

First published: 24 July 2019, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी