Home » इंडिया » Chandrayaan 2 Pakistan first female astronaut Namira Salim congratulates ISRO
 

पाकिस्तान की पहली अंतरिक्ष यात्री ने ISRO को दी बधाई, Chandrayaan 2 को लेकर कही ये बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 September 2019, 11:11 IST

पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीक मंत्री फवाद चौधरी ने भले ही भारत के Chandrayaa-2 मिशन का मजाक उड़ाया हो, लेकिन पाकिस्तान की एक होनहार बेटी ने फवाद चौधरी के मुंह पर तमाचा मारते हुए इसरो को बधाई दी है. उन्होंने इसरो को बधाई देते हुए भारत के इस ऐतिहासिक कोशिश की जमकर सराहना की. पाकिस्तान की ये बेटी कोई आम इंसान नहीं है, बल्कि वह एक एस्ट्रोनोट यानी अंतरिक्ष यात्री हैं. उनके नाम पाकिस्तान की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री होने का रिकॉर्ड है. उनका नाम है नामिरा सलीम.

नामिरा सलीम पाकिस्तान की पहली अंतरिक्ष यात्री हैं. नामिरा ने चंद्रयान-2 मिशन पर भारतीय अंतरिक्ष और अनुसंधान संगठन (ISRO) को बधाई दी है. नामिरा ने चंद्रमा पर लैंडिंग करने के भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी के ऐतिहासिक प्रयास की सराहना की है. कराची में छपने वाली एक साइंस मैगजीन साइंटिया में छपे एक लेख में उनके बयान का जिक्र किया गया है, जिसमें नामिरा ने कहा है कि, “मैं भारत और इसरो को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर विक्रम लैंडर के द्वारा सॉफ्ट लैंडिंग का ऐतिहासिक प्रयास किए जाने पर बधाई देती हूं.”

मैगजीन में छपे इस बयान में उन्होंने कहा है कि, “चंद्रयान-2 का चंद्रमा मिशन वास्तव में दक्षिण एशिया के लिए एक विशाल छलांग है, जो न केवल इस क्षेत्र को, बल्कि पूरे वैश्विक क्षेत्र के उद्योग को गौरवान्वित करता है.” उन्होंने कहा, “दक्षिण एशिया से अंतरिक्ष के सेक्टर में क्षेत्रीय विकास मायने रखता है, फिर चाहे उसे किसी भी देश ने लीड क्यों ना किया हो. अंतरिक्ष हमें एक करता है, पृथ्वी पर हमें विभाजित करने वाली सभी राजनीतिक सीमाएं वहां समाप्त हो जाती हैं.” बता दें कि नामिरा यान वर्जिन गेलेक्टिक में सवार होकर अंतरिक्ष में जाने वाली पहली पाकिस्तानी के रूप में जानी जाती हैं.

गौरतलब है कि इसरो के चंद्रयान-2 में लगे लैंडर विक्रम को शनिवार रात चंद्रमा की सहत पर सॉफ्ट लैंडिंग करनी थी, लेकिन लैंडिंग के कुछ मिनट पहले ही इसरो से उसका संपर्क टूट गया. जब लैंडर विक्रम का इसरो से संपर्क टूटा तब लैंडिर विक्रम चंद्रमा की सतह से 2.1 किलोमीटर ऊपर था और कुछ ही देर में उसे चंद्रमा पर लैंड करना था.

इसके बाद दुनियाभर से इसरो और भारत के लिए प्रतिक्रियाएं आईं. पूरी दुनिया ने भारत और इसरो की तारीफ की. यही नहीं नासा ने भी इसरो के चंद्रयान की जमकर तारीफ की थी, लेकिन पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री फवाद चौधरी ने एक ट्वीट कर कहा कि खिलौना मून का बजाय मुंबई में उतर गया होगा. हालांकि चौधरी के इस बजान के बाद खुद पाकिस्तान के तमाम लोगों ने उनकी आलोचना की थी और उनके इस बयान को बचकाना बताया था.

First published: 10 September 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी