Home » इंडिया » Chandrayaan 2: Prime Minister Manmohan Singh sanctioned project in 2008
 

मोदी सरकार में नहीं मनमोहन सरकार में मिली थी Chandrayaan-2 मिशन को मंजूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2019, 15:10 IST

देश के लिए आज बहुत ही गौरव का दिन है. चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर चांद की सतह पर आज रात को उतरेगा. इसके साथ ही भारत ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाएगा. इससे पहले रूस, अमेरिका और चीन ने यह कारनामा किया है. चांद के दक्षिणी ध्रुव पर पहुंचने वाला भारत विश्व का पहला देश भी बन जाएगा.

आज रात को पीएम मोदी इस लम्हे को देखने के लिए भारतीय स्पेस एजेंसी ISRO के बेंगलुरु केंद्र में मौजूद रहेंगे. उनके साथ 60-70 स्कूली बच्चे भी इस गौरव का गवाह होंगे. आज जब भारत का ड्रीम चंद्रयान 2 चंद्रमा पर पहुंच रहा है तो देश में मोदी सरकार है. क्या आप जानते हैं कि जब चंद्रयान 2 मिशन को मंजूरी मिली थी तो देश में कांग्रेस की सरकार थी.

साल 2008 के सितंबर महीने की 18 तारीख को तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चंद्रयान-2 मिशन को मंजूरी दी थी. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का यह ड्रीम प्रोजेक्ट था. आज 11 साल बाद ये मिशन पूरा होने जा रहा है. 

21 जुलाई 2019 को चंद्रयान 2 लॉन्च हुआ था तो इसके क्रेडिट को लेकर बहस छिड़ गई थी. कांग्रेस पार्टी ने तब कहा था कि चंद्रयान 2 का श्रेय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को जाता है. कांग्रेस ने भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को भी इसका श्रेय दिया था. कांग्रेस ने कहा था कि ये नेहरू ही थे जिन्होंने INCOSPAR के माध्यम से साल 1962 में अंतरिक्ष अनुसंधान को वित्त पोषित किया जो बाद में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) बना.

कश्मीर में लश्कर ने लगाए खौफनाक पोस्टर्स, लिखा- मोदी सरकार का अंजाम अच्छा नहीं होगा

पाकिस्तान की ओछी हरकत, LoC पर तैनात की एक और ब्रिगेड, 2000 सैनिकों की बढ़ाई हलचल

 

First published: 6 September 2019, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी