Home » इंडिया » Chhattisgarh: 25 CRPF personnel killed in an encounter with Naxals in Sukma district
 

सुकमा में बड़े नक्सली हमले से हिला देश, 25 CRPF जवान शहीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2017, 13:44 IST
(सांकेतिक तस्वीर)

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों ने सुरक्षाबलों के खिलाफ बड़े हमले को अंजाम दिया है. यहां माओवादियों के हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए हैं. शहीद हुए सभी जवान सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन के थे. इससे पहले दंतेवाड़ा जिले में आईईडी को डिफ्यूज करते हुए सुरक्षाबलों ने बड़ी नक्सली साजिश को नाकाम कर दिया था.

लेकिन इस खबर को आए चंद घंटे भी नहीं बीते थे कि सुकमा में बड़े नक्सली हमले की खबर आ गई. तकरीबन 300 की तादाद में आए नक्सलियों ने सीआरपीएफ की रोड ओपनिंग पार्टी पर अचानक हमला कर दिया. इस दौरान नक्सलियों ने जवानों के हथियार भी लूट लिए. दोपहर करीब साढ़े 12 बजे नक्सलियों ने बुरकापाल-चिंतागुफा इलाके में घात लगाकर इस हमले को अंजाम दिया. बताया जा रहा है कि छह जवान घायल हैं, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है.

CRPF की रोड ओपनिंग पार्टी पर हमला

छत्तीसगढ़ के सीएम डॉक्टर रमन सिंह का कहना है कि सुकमा के चिंतागुफा इलाके में सड़क बनाने का काम चल रहा था और सीआरपीएफ के 90 जवान रोड ओपनिंग पार्टी का हिस्सा थे. इसी दौरान नक्सलियों ने उन पर हमला कर दिया. सीएम का कहना है कि अब सुकमा नक्सलियों का सबसे बड़ा गढ़ है और सुरक्षाबलों का ऑपरेशन यहां तेज होगा.

हमले में जीवित बचे सीआरपीएफ जवान शेर मोहम्मद का कहना है, "पहले नक्सलियों ने गांव वालों को हमारी लोकेशन का पता लगाने के लिए भेजा. इसके बाद 300 नक्सलियों ने हमारे ऊपर हमला कर दिया. हमने भी उनके ऊपर फायरिंग की और कई नक्सलियों को मार गिराया."

हमले में घायल शेर मोहम्मद के मुताबिक, "नक्सली 300 के करीब थे, जबकि सीआरपीएफ जवानों की संख्या 150 थी. हमने भी मुठभेड़ के दौरान फायरिंग जारी रखी. मैंने खुद तीन से चार नक्सलियों के सीने में गोली मारी." इस हमले के बाद पहले सीआरपीएफ के कंपनी कमांडर समेत सात जवानों के लापता होने की खबर आई. वहीं शाम को पता चला कि ये जवान सुरक्षित अपने कैंप में लौट आए हैं.

पीएम बोले बलिदान नहीं जाएगा बेकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमले की कड़ी निंदा करते हुए इसे कायराना हरकत करार दिया है. पीएम मोदी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, "छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ जवानों पर हमला कायराना और निंदनीय है. हम हालात पर पैनी नज़र रखे हुए हैं. सीआरपीएफ जवानों की दिलेरी पर हमें गर्व है. शहीदों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा. शोक संतप्त परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं." 

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है. राहुल गांधी ने कहा, "सुकमा हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के परिजनों को हम शोक संवेदना प्रकट करते हैं. हम अपने बहादुर जवानों के साहस और बलिदान को सलाम करते हैं." 

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी हमले की निंदा की है. राजनाथ सिंह ने कहा, "छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने पर काफी दुख है. शहीद जवानों को मेरी श्रद्धांजलि और उनके परिजनों के प्रति शोक संवेदना जताता हूं."

राष्ट्रपति ने की कड़ी निंदा

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, "ये एक बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. मैं और जानकारी के लिए छत्तीसगढ़  के मुख्यमंत्री रमन सिंह से बात करने जा रहा हूं. घटना बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है. ये एक चुनौती भी है." 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी सुकमा नक्सली हमले की कड़ी निंदा की है. राष्ट्रपति ने कहा, "छत्तीसगढ़ में सीआरपीएफ जवानों पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं. शहीदों के परिजनों के प्रति शोक संवेदनाएं और जो जवान घायल हैं उनके ठीक होने की प्रार्थना करता हूं." 

इस बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने नक्सली हमले के बाद आपात बैठक के दौरान हालात पर चर्चा की. सीएम रमन सिंह ने हमले में घायल सीआरपीएफ जवानों का अस्पताल पहुंचकर हाल भी जाना. इससे पहले आज ही दंतेवाड़ा में बम निरोधक दस्ते ने दस किलो के आईईडी को डिफ्यूज करके नक्सलियों की साजिश विफल कर दी थी.

First published: 24 April 2017, 17:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी