Home » इंडिया » Abujhmad people reached bank after 60 kms travelling, but can't get money
 

छत्तीसगढ़: अबूझमाड़ के जंगलों से 60 किमी दूर बैंक पहुंचे लोगों को नहीं मिल रहा है पैसा

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(पत्रिका)

मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद से छत्तीसगढ़ की ग्रामीण जनता को गंभीर परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

अबूझमाड़ के निवासी 60 किलोमीटर यात्रा करके बैंक पहुंच रहे हैं, लेकिन उनके हाथ केवल मायूसी ही लग रही है. बहुत से ग्रामीणों को जिला मुख्यालय में एक-दो रात गुजारने के बाद भी बैंकों से पैसा नहीं मिल रहा है.

बताया जा रहा है कि अबूझमाड़ के ग्रामीण जिला मुख्यालय पहुंच कर रात गुजार रहे हैं. इसके बावजूद ज्यादातर को बैंकों से पैसा नहीं मिल पा रहा है.

ग्रामीणों का आरोप है कि बैंकों में तैनात सुरक्षाकर्मी भी उनकी मदद नहीं कर रहे हैं. वहीं शहर के ज्यादातर एटीएम भी पिछले कई दिन से बंद पड़े हैं, जिससे लोगों को और ज्यादा समस्या हो रही है.

बैंकों में रुपये की अदला-बदली न होने और प्रमुख बैंकों के एटीएम बंद होने से लोगों को रोजमर्रा के खर्च के लिए रुपये नहीं मिल रहे हैं. इससे लोग बेहद नाराज हैं.

वहीं राज्य सरकार के फैसले ने तो ग्रामीणों की समस्या और बढ़ा दी है. जिला सहकारी बैंक में किसानों की पूंजी न तो जमा की जा रही है और न ही उन्हें पुराने नोट के बदले नए नोट दिए जा रहे हैं.

इस मामले में सेंट्रल बैंक के शाखा प्रबंधक विकास पटोरिया ने बताया कि तकनीकी खामियों के चलते मशीन काम नहीं कर रही है. पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबंधक वीके मसीह ने बताया कि एसबीआई से रुपये की आपूर्ति न होने से किल्लत हो रही है.

उन्होंने बताया कि एटीएम में अन्य बैंकों के उपभोक्ता भी उपयोग कर रहे हैं, जिससे उनके उपभोक्ताओं को परेशानी हो रही थी. इस वजह से एटीएम बंद कर सीधे लोगों को रुपये दिए जा रहे हैं.

First published: 18 November 2016, 3:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी