Home » इंडिया » Chhattisgarh: ajit jogi quit congress
 

छत्तीसगढ़: अजीत जोगी ने 'हाथ' का छोड़ा साथ, बनाएंगे नई पार्टी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(एजेंसी)

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कांग्रेस पार्टी छोड़ने का एलान किया है. जोगी ने कहा है, "कांग्रेस पार्टी अब नेहरू, इंदिरा, राजीव और सोनिया गांधी वाली कांग्रेस नहीं रही. पार्टी संगठन में अब भैंस के आगे बीन बजाने से कोई फायदा नहीं है और न ही दिल्ली जाने की जरूरत है."

अजीत जोगी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की कमान अब वो राज्य में रहकर ही संभालेंगे. अब सारे फैसले यहीं से होंगे. जोगी जल्द ही एक क्षेत्रीय दल बनाने की तैयारी में हैं. इसके लिए वो आजकल पूरे प्रदेश का दौरा कर रहे हैं. 

अंतागढ़ टेपकांड में घिरे

जोगी ने कहा है कि छह जून को वो अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से मुलाकात करेंगे. इसके बाद नई पार्टी को लेकर औपचारिक फैसला लिया जाएगा. 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार और अंतागढ़ टेपकांड में नाम सामने आने के बाद से जोगी लगातार पार्टी में हाशिए पर चल रहे थे.

छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी ने राज्यसभा टिकट के लिए अपनी दावेदारी ठोकी थी, लेकिन टिकट मिलना तो दूर, उन्हें पार्टी ने राज्यसभा सीट के लिए बतौर प्रत्याशी भी चयनित नहीं किया. इससे आहत जोगी ने कांग्रेस से किनारा करने का फैसला कर लिया.

निष्कासन की हुई थी सिफारिश

अंतागढ़ टेपकांड में तो प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उनके विधायक बेटे अमित जोगी को दोषी मानते हुए पार्टी से निष्कासित कर दिया था. अजीत जोगी को भी पार्टी से छह साल के लिए निकालने की सिफारिश की गई थी. यह मामला इस समय कांग्रेस की राष्ट्रीय अनुशासन समिति के पास विचाराधीन है.

जोगी की पत्नी डॉक्टर रेणु जोगी भी कांग्रेस की विधायक हैं. जोगी दो बार राज्यसभा सदस्य, दो बार लोकसभा सदस्य और एक बार मुख्यमंत्री रहने के अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रहे हैं. वर्तमान में अजीत जोगी कांग्रेस के राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष हैं.

इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अजीत जोगी पर निशाना साधते हुए कहा, "जो व्यक्ति कांग्रेस के घोषित उम्मीदवारों का सौदा करोड़ रुपये लेकर कर दे, उसका चले जाना कांग्रेस के लिए हितकर है."

First published: 2 June 2016, 4:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी