Home » इंडिया » Chhattisgarh Election 2018: drone are used in anti naxal operation before elections
 

छत्तीसगढ़ में चुनावों के चलते नक्सलियों पर नजर रखने के लिए ड्रोन का किया जा रहा है इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2018, 11:01 IST
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Chhattisgarh assembly election election 2018: छत्तीसगढ़ में 12 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों का नक्सलियों के बहिष्कार किया है. चुनावों के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के लिए एंटी नक्सल सुरक्षा ऑपरेशन भी चलाए जा रहे हैं.

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान 12 नवंबर को होगा. इसके चलते यहां के नक्सलप्रभावित इलाकों में सुरक्षा की वयवस्था को और भी ज्यादा कड़ा कर दिया गया है. सुरक्षा के चलती ही नक्सल बहुल इलाके अबूजमाड़ में एंटी नक्सल अभियान को शुरू किया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ऐसी खबरें थी कि नक्सलियों ने चुनाव के विरोध में आईईडी बिछाकर सुरक्षाकर्मियों को निशाने पर लेने का खतरनाक प्लान बनाया है.

कांग्रेस का दावा, सत्ता में आए तो इन जगहों पर RSS की शाखाओं पर लगेगा बैन

टाइम्स नाउ की खबर के मुताबिक अब ड्रोन की मदद से इन इलाकों में नजर रखी जा रही है. अबूझमाड़ जिसे नक्सल बहुल इलाका माना जाता है. वहां पर एक एक गतिविधि पर नजर रखने के लिए ड्रोन की मदद ली जा रही है. ख़बरों के अनुसार यहां के कौशलनार में नक्सलियों पर नजर रखने के दौरान ड्रोन की मदद से पता लगाया गया कि वहां कुछ नक्सली मौजूद थे जो किसी खतरनाक प्लान को अंजाम देने के लिए इकट्ठे हुए थे. जब नक्सलियों ने ड्रोन को देखा तो वे फौरन वहां स्थित घरों के अंदर चले गए.

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ का अबूझमाड़ एक आदिवासी इलाका है. ये जंगलों वाला ऐसा खतरनाक इलाका है जहां प्रवेश करने की हर किसी की हिम्मत नहीं होती. ऐसा कहा जाता है कि इस इलाके में पूरी तरह से माओवादियों का ही राज चलता है, यहां के लोगों का शासन और प्रशासन से संपर्क पूरी तरह से कटा हुआ है. इसी वजह से इन घने जंगलों के बीच कोई सुरक्षा कैंप भी नहीं बनाए गए हैं.

First published: 11 November 2018, 10:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी