Home » इंडिया » Chhattisgarh Election 2018: second phase voting started for 72 seats
 

छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच दूसरे चरण की 72 सीटों पर वोटिंग शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 November 2018, 14:06 IST

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों के लिए आज दूसरे चरण की 72 सीटों पर मतदान शुरू हो गया है. पहले चरण के मतदान में हुए नक्सली हमलों को देखते हुए इस बार सुरक्षा के और भी अधिक पुख्ता इंतजाम किये हैं. हालांकि पहले चरण में मुख्यतः नक्सल प्रभावी इलाकों में ही मतदान होना था. छत्तीसगढ़ में आज दूसरे और अंतिम चरण के लिए 19 जिलों के लिए 72 सीटों पर मतदान प्रक्रिया शुरू हो चुकी है.

गौरतलब है कि पहले चरण में नक्सली हमलों के बीच भी करीब 70 फीसदी मतदान हुआ था. 12 नवंबर को हुए पहले चरण के मतदान में 18 सीटों के लिए पड़े थे. इनमें से अधिकांश सीटें नक्सल प्रभावित इलाकों की थीं. इसी कारण चुनाव प्रभावित करने के लिए कई जगहों पर नक्सली हमले भी हुए थे.

इस बार राज्य में सत्ता के लिए त्रिकोणीय मुकाबला है. इसमें एक तरफ सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) है, तो विपक्ष में कांग्रेस अपनी पूरी जोर आजमाइश पर है. वहीं इस मुकाबले में तीसरा प्रतिद्वंदी अजीत जोगी और मायावती का गठबंधन है. जो कि तीसरे मोर्चे के रूप में सामने आया है.

नक्सली हमलों के खौफ पर भारी पड़ा 100 साल की वृद्ध महिला का हौसला, 'नक्सलगढ़' में डाला वोट

गौरतलब है कि आज छत्तीसगढ़ के दूसरे और अंतिम चरण के चुनाव में कुल 1,079 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है. इसमें 119 महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं. सीटों के आंकड़ों को देखे तो कांग्रेस और भाजपा ने सभी 72 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं. वहीं मायावती ने इस चुनाव में 25 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस के 46 सीटों पर उम्मीदवार अपने भविष्य का दांव खेल रहे हैं.

वहीं इस मुकाबले में अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने 66 सीटों पर अपने उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं. छत्तीसगढ़ के इस दूसरे चरण में मतदाताओं की संख्या तकरीबन डेढ़ करोड़ से अधिक हैं. जिनमे से 77 लाख से ज्यादा पुरुष और 76 लाख से ज्यादा महिलाएं हैं. 72 सीटों के लिए होने वाले मतदान के लिए 19,000 मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. सुरक्षा की दृष्टि से इलाके अपर नजर रखने के लिए इसमें हेलीकॉप्टरों और ड्रोन की मदद ली जाएगी. वहीं दूसरे चरण के लिए नक्सल प्रभावित गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद, कबीरधाम, जशपुर और बलरामपुर जिलों के लिए अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है.

 

First published: 20 November 2018, 7:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी