Home » इंडिया » छोटा राजन: मुझे फर्जी पासपोर्ट भारतीय एजेंसी ने ही दिया था
 

छोटा राजन: मुझे फर्जी पासपोर्ट भारतीय एजेंसी ने ही दिया था

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(एजेंसी)

कुख्यात डॉन और कभी दाऊद इब्राहिम के साथी रहे छोटा राजन ने कोर्ट में गवाही के दौरान बताया कि उसे मोहन कुमार के नाम से जाली पासपोर्ट भारतीय एजेंसियों ने ही दिया था. कोर्ट में खुद को देशभक्त बताते हुए राजन ने कहा कि वो आतंकवाद और देश के दुश्मनों से लड़ता रहा है.

स्पेशल कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जाली पासपोर्ट मामले में बयान देते हुए राजन ने ये भी कहा कि सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मैं उन लोगों के नामों का खुलासा नहीं कर सकता, जिन्होंने मुझे वो पासपोर्ट दिलवाया.

एजेंसियों के मुताबिक राजन ने स्पेशल जज विनोद कुमार के सामने कहा कि मोहन कुमार नाम के जिस जाली पासपोर्ट के साथ उसे बैंकॉक में गिरफ्तार किया गया था, उसे वो भारतीय एजेंसियों के अधिकारियों ने ही दिया था.

राजन ने कोर्ट से कहा कि दाऊद इब्राहिम के गैंग ने उसे साल 2000 में बैंकॉक में मारने की कोशिश की थी. इसके बाद उसे ये पासपोर्ट मिला था.

राजन के मुताबिक, “जब दाऊद के लोगों को ये पता लगा कि मैं इंडियन एजेंसीज को मुंबई बम ब्लास्ट के बारे में इन्फॉर्मेशन पहुंचा रहा हूं तो उन्होंने मुझे मारने की कोशिश की. तब उन्होंने दुबई में मेरा ओरिजनल पासपोर्ट छीन लिया.”

उसने जज विनोद कुमार को बताया कि, “उन लोगों ने मुझे मारने की कोशिश की लेकिन मैं बच गया और फिर दुबई के रास्ते मलेशिया पहुंचा. इसके बाद बैंकॉक पहुंचा. जब वहां भी मेरी जान लेने की कोशिश हुई तो भारतीय एजेंसियों ने मुझे मोहन कुमार नाम से पासपोर्ट दिया”

राजन ने दावा किया कि वो 1993 से ही देश के लिए काम कर रहा है. राजन फिलहाल दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है.

First published: 8 September 2016, 4:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी