Home » इंडिया » Chidambaram's lawyer Kapil told SC: Delhi High Court order was copy-paste
 

चिदंबरम के वकील कपिल ने सिब्बल ने SC से कहा- दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश कॉपी-पेस्ट था

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2019, 17:33 IST

दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से इनकार करने के बाद उनके वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि इस फैसले को सुनाने वाले जज ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के नोट से कॉपी-पेस्ट किए गए पैराग्राफ को अदालत में अपने आदेश के रूप में पेश किया. शीर्ष अदालत की दो-न्यायाधीश पीठ के समक्ष चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि ईडी का नोट उच्च न्यायालय द्वारा आदेश का आधार बन गया था.

सिब्बल ने कहा ''बहस खत्म होने के बाद सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाई कोर्ट के जज जस्टिस गौड़ को एक नोट दिया. हमें उस नोट पर जवाब देने का मौका नहीं दिया गया'' इसके जवाब में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा, ''झूठी बयानबाजी मत करिए, मैंने बहस पूरी होने के बाद नोट नहीं दिया था''

 

सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस भानुमति और ए एस बोपन्ना की बेंच को बताया, "अगर अदालतें, अब ईडी के वकील द्वारा सौंपे गए एक नोट पर, बिना हलफनामे के जमानत देने से इनकार देते हैं तो मैं कैसे जमानत लेने के बारे में सोच सकता हूं."

अपने आदेश में दिल्ली हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति सुनील गौड़ ने केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा INX मीडिया मामलों में दायर दो मामलों में चिदंबरम की अग्रिम जमानत की अर्जी को खारिज कर दिया था. उन्हें बुधवार देर शाम सीबीआई ने गिरफ्तार किया था और कल 26 अगस्त तक सीबीआई की हिरासत में भेजा गया है. सीबीआई मामले में फैसले के खिलाफ चिदंबरम की अपील पर सोमवार को सुनवाई होगी क्योंकि वह पहले से ही गिरफ्त में है.

छत्तीसगढ़ में रमन सिंह के बेटे पर FIR दर्ज, चिटफंड कंपनी के जरिये धोखाधड़ी का आरोप

First published: 23 August 2019, 17:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी