Home » इंडिया » Chief Justice of India Dipak Misra said Criticising a system is easy, transforming it is not
 

CJI दीपक मिश्रा बोले- ज्यूडिशियरी की आलोचना करना है आसान लेकिन बदलना मुश्किल

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 August 2018, 15:55 IST

भारत के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने बुधवार को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कहा कि एक प्रणाली (System) की आलोचना करना आसान है लेकिन इसे बदलना आसान नहीं है. सुप्रीम कोर्ट में अपने स्वतंत्रता दिवस के सम्बोधन के दौरान सीजेआई दीपक मिश्रा ने न्यायपालिका को लेकर भी टिप्पणी की.

सीजेआई मिश्रा ने कहा, "एक प्रणाली की आलोचना करना, हमला करना और नष्ट करना काफी आसान है." उन्होंने कहा "मुश्किल और चुनौतीपूर्ण है कि इसे चलाना और बदलना." उन्होंने कहा, "सकारात्मक और ठोस सुधार जिम्मेदारी के साथ किए जाने चाहिए," उन्होंने कहा "किसी की व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं या शिकायतों को पार करने की आवश्यकता है''.

सुप्रीम कोर्ट परिसर में तिरंगा फहराने के बाद वहां मौजूद जजों, वकीलों को संबोधित करते हुए सीजेआई ने सीनियर जजों को निजी महत्वाकांक्षाओं से परे उठने की नसीहत दी.

ये भी पढ़ें : आशुतोष का इस्तीफा स्वीकार करने से केजरीवाल का इनकार, कहा- इस जन्म में तो नहीं

First published: 15 August 2018, 15:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी