Home » इंडिया » chief justice ts thakur angry on modi govt
 

चीफ जस्टिस ने केंद्र को लताड़ा, कहा- क्या यहां कोई पंचायत चल रही है?

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:48 IST
(कैच)

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने शुक्रवार को मोदी सरकार को जमकर लताड़ लगाई. टीएस ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार खुद अपना कोई भी काम ठीक से नहीं करती और सभी आरोप जजों और कोर्ट पर लगाती है.

टीएस ठाकुर ने केंद्र को यह फटकार परिवहन मंत्रालय से जुड़ी लंबित याचिकाओं पर लगाई. कोर्ट ने सड़क हादसों पर दाखिल याचिकाओं के मामले में केंद्र सरकार का पक्ष पूछा था. जिसका कोई भी जवाब सरकार की ओर से नहीं दिया गया.

जस्टिस ठाकुर इन्हीं याचिकाओं की सुनवाई कर रहे थे. आज भी जब इस मामले में सरकार का कोई पक्ष सामने नहीं आया, तो चीफ जस्टिस भड़क गए और फैसला सुनाते हुए परिवहन मंत्रालय पर 25 हजार रुपये का जुर्माना ठोक दिया.

फैसला सुनाते हुए टीएस ठाकुर ने कहा, "सरकार ज्यादातर मामलों में वादी होती है, फिर भी कोर्ट को ठीक से काम ना करने के लिए कोसती रहती हैै."

जस्टिस ठाकुर ने केंद्र सरकार के लिए कठोर शब्दों का प्रयोग करते हुए कहा, "तुमने पिछले एक साल से काउंटर एफिडेविट नहीं भरा है. क्या यहां कोई पंचायत चल रही है?"

वहीं ठाकुर के इस सख्त रुख को देखकर सकते में आए अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कोर्ट से निवेदन करते हुए कहा कि सरकार इस मामले में तीन हफ्ते में अपना जवाब दे देगी.

गौरतलब है कि चीफ जस्टिस तीरथ सिंह ठाकुर 25 अप्रैल को हुए एक कार्यक्रम में पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में भावुक हो गए थे.

तीरथ सिंह ठाकुर ने पीएम मोदी की मौजूदगी में मुकदमों की लगातार बढ़ती संख्या और जजों की संख्या को मौजूदा 21 हजार से 40 हजार करने की दिशा में सरकार के ढीले रवैये पर अफसोस जताया था.

First published: 12 August 2016, 2:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी