Home » इंडिया » Chikungunya and dengue have claimed at least 33 lives and affected nearly 3,000 people in Delhi
 

दिल्ली में चिकनगुनिया से दो और मौतें, अब तक 15 ने गंवाई जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 September 2016, 19:51 IST
QUICK PILL
  • शनिवार को दो और मौतों की पुष्टि के बाद दिल्ली में अब तक चिकनगुनिया से 15 लोगों की जान जा चुकी है.
  • चिकनगुनिया और डेंगू से देश की राजधानी में 3000 मरीज बीमार बताए जा रहे हैं. डेंगू से 18 मौतों की खबर है.
  • स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा है कि बीमारी से पीड़ित किसी मरीज को बिना इलाज के नहीं लौटना पड़ेगा.

दिल्ली में चिकनगुनिया से मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. शनिवार को दो और मौतों की पुष्टि के बाद अब तक 15 लोगों की जान जा चुकी है.

सर गंगाराम अस्पताल में 70 साल से ज्यादा उम्र के दो बुजुर्ग लोगों की मौत की खबर है. अस्पताल सूत्रों के मुताबिक मृतकों में से एक को हाइपरटेंशन की शिकायत थी, जबकि दूसरे को किडनी से संबंधित समस्या थी.

इन दो मौतों के साथ ही गंगाराम अस्पताल में अब तक चिकनगुनिया से मौत के सात मामले सामने आ चुके हैं, जोकि दिल्ली के किसी भी अस्पताल में चिकनगुनिया से मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा है.

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में अब तक चिकनगुनिया से मौत के 7 मामले सामने आ चुके हैं.

जिन 15 लोगों की मौत की खबर है, उनमें अपोलो अस्पताल में 5, जबकि एम्स, बाड़ा हिंदूराव और पीएसआरआई अस्पताल में एक-एक मौत के मामले हैं.

वहीं डॉक्टरों का यह भी कहना है कि अब तक जितनी भी मौतें हुई हैं वे सभी किसी न किसी पुरानी बीमारी से ग्रस्त थे. इनमें किडनी और मधुमेह की समस्या भी शामिल है. चिकनगुनिया होने के बाद इन बीमारियों की जटिलता बढ़ गई. इसी वजह से मौत हुई है.

दक्षिणी दिल्ली में चिकनगुनिया का ज्यादा असर देखा जा रहा है. लाजपतनगर इलाके में 70 साल के गुलाबचंद गुप्ता की 12 सितंबर को मौत हुई थी. उनके परिजनों का कहना है, "उन्हें पुष्पवती सिंघानिया रिसर्च इंस्टीट्यूट (पीएसआरआई) में सात सितंबर को भर्ती कराया गया. मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक उनकी मौत एक्यूट फेब्राइल इलनेस के साथ सेप्टिक शॉक और मल्टी ऑर्गन फेल्योर से हुई है." 

आंकड़ों के मुताबिक चिकनगुनिया और डेंगू से दिल्ली में कम से कम 33 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं तकरीबन 3000 मरीज इसकी चपेट में बताए जा रहे हैं. डेंगू से अब तक 18 लोगों की मौत की खबर है. जबकि शहर में 1100 लोग इससे पीड़ित बताए जा रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का कहना है, "शहर में वेक्टर बॉर्न डिजीज के बारे में हो रही मौतों पर हमने एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. इसके अलावा हमने मृतकों की मेडिकल हिस्ट्री के बारे में भी जानकारी मांगी है."

आंकड़ों के मुताबिक चिकनगुनिया और डेंगू से दिल्ली में कम से कम 33 लोगों की मौत हो चुकी है.

जेपी नड्डा ने कहा, "दिल्ली में बहुत से लोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) से इलाज के लिए आ रहे हैं, लिहाजा वहां भी क्लीनिक का इंतजाम करने की जरूरत है. हम इस मामले को हरियाणा और एनसीआर में आने वाले दूसरे राज्यों की सरकारों के साथ सुलझा रहे हैं."  

शुक्रवार को नड्डा ने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ हालात पर चर्चा की थी. स्वास्थ्य मंत्री ने निर्देश दिया है कि किसी भी मरीज को बिना इलाज के नहीं लौटना पड़ेगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि दिल्ली में दवा और डॉक्टरों की कोई कमी नहीं है.

First published: 17 September 2016, 19:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी