Home » इंडिया » China approves vaccination for children above 3 years, know what is going on in India
 

चीन ने 3 साल से ऊपर के बच्चों को भी टीका लगाने की मंजूरी दी, जानिए भारत में क्या चल रहा है

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2021, 8:57 IST
Covid-19 vaccine (Catch News)

 

ग्लोबल टाइम्स के अनुसार चीन ने 3 से 17 साल के बच्चों के लिए चीनी फर्म सिनोवैक द्वारा निर्मित एक कोविड -19 वैक्सीन, कोरोनावैक (CoronaVac) के इमरजेंसी इस्तेमाल को अनुमति दे दी है. हालांकि वैक्सीन को (आपातकालीन) उपयोग में कब लाया जाएगा और समूह में किस उम्र से शुरू करना अभी तक तय नहीं किया गया है.” सिनोवैक ने इस आयु वर्ग में कई सौ वॉलंटियर को शामिल करते हुए फेज I और II क्लींनिकल रिसर्च फेज समाप्त कर दिया है, जिसमे कहा गया है कि टीका वयस्कों के लिए सुरक्षित है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 1 जून को चीन के दूसरे COVID-19 वैक्सीन, सिनोवैक को मंजूरी दे दी है, जिससे चीन की वैक्सीन कूटनीति को मजबूत करने की उम्मीद थी. इससे पहले डब्ल्यूएचओ ने चीन की सिनोफार्मा को भी इसी तरह की मंजूरी दी थी. टीकों को घर पर प्रशासित करने के अलावा, चीन अपनी वैक्सीन कूटनीति के हिस्से के रूप में कई देशों को टीकों का दान और निर्यात करता रहा है.


चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने रविवार को कहा कि पूरे चीन में अब तक COVID-19 टीकों की 763 मिलियन से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं. अपने हिस्से के लिए चीन ने आपातकालीन उपयोग के लिए अपने लगभग पांच टीकों को मंजूरी दे दी है. चीन ने COVAX सुविधा को 10 मिलियन वैक्सीन खुराक की पेशकश की है जो विकासशील देशों को टीके उपलब्ध कराने के लिए WHO समर्थित पहल है.

दिल्ली एम्स में स्क्रीनिंग शुरू

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), दिल्ली सोमवार से स्वदेशी घरेलू COVID-19 वैक्सीन, भारत बायोटेक के कोवैक्सिन (Covaxin) के क्लीनिकल ट्रायल के लिए बच्चों की स्क्रीनिंग शुरू करेगा. ANI के अनुसार एम्स पटना के बाद एम्स दिल्ली क्लिनिकल परीक्षण शुरू करेगा. एम्स पटना ने हाल ही में 12 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों पर परीक्षण शुरू किया था.

भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) से अनुमति मिलने के बाद, एम्स दिल्ली अब परीक्षण शुरू करने से पहले क्लीनिकल ट्रायल के लिए स्क्रीनिंग शुरू कर रहा है. परीक्षण की अनुमति देने के लिए DCGI की मंजूरी के बाद 12 मई को एक विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) द्वारा सिफारिश की गई थी.

Coronavirus: भारत में कोरोना के बहुत ही खतरनाक वैरिएंट से हो जाएं सावधान, हफ्ते भर में सूख जाता है इंसान

First published: 7 June 2021, 8:57 IST
 
अगली कहानी