Home » इंडिया » China Army handed over five young men of Arunachal to India after 10 day
 

चीन आर्मी ने अरुणाचल के पांचों युवकों को 10 दिन बाद किया भारत के हवाले

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 September 2020, 16:08 IST

अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा पर गलती से बॉर्डर क्रॉस करने वाले पांचों अरुणाचली युवाओं को दस दिनों के बाद शनिवार को चीनी अधिकारियों ने वापस भारत को सौंप दिया है. भारतीय सेना के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की है. असम के तेजपुर स्थित पीआरओ (रक्षा) लेफ्टिनेंट कर्नल हर्ष वर्धन पांडे ने एक विज्ञप्ति में कहा "भारतीय सेना ने सभी आवश्यक औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद 12 सितंबर 2020 को किबिथू में सभी पांच व्यक्तियों को वापस ले लिया है''. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चीन पहले इन युवाओं की वापसी को लेकर आनाकानी कर रहा था. यहां तक कि चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने इन्हे जासूस तक बता दिया था. 

कहा गया है कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार अब इन लोगों को 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जायेगा और उसके बाद उनके परिवार के सदस्यों को सौंप दिया जाएगा.  सेना के अनुसार यह तीसरी बार है जब अरुणाचल प्रदेश के युवाओं ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को अनजाने में पार किया है. सेना ने कहा “भारतीय सेना हमेशा खोए हुए स्थानीय लोगों का पता लगाने और उन्हें स्वदेश लौटने में मदद करने में सक्रिय रही है''.


सेना ने कहा ''गलती से सीमा पर करने वाले सभी लोगों को पिछले दिनों भारतीय सेना द्वारा लगातार प्रयासों और समन्वय के बाद सुरक्षित रूप से घर वापस लाया गया है. टैगिन जनजाति के 5 युवक, जो भारतीय सेना के लिए पोर्टर्स का काम करते थे, 2 सितंबर को अरुणाचल प्रदेश और तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र (टीएआर) को द्विभाजन करने वाली भारतीय लाइन पर ऊपरी सुबनसिरी जिले के सेरा -7 से कथित रूप से लापता हो गए थे.

युवकों के लापता होने के बाद, एक लापता युवक के भाई ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया कि उन्हें पीएलए द्वारा अपहरण कर लिया गया है. ऐसा ही आरोप अरुणाचल पूर्व के बीजेपी सांसद और पासीघाट के कांग्रेस विधायक तपीर गाओ ने अपने ट्वीट में लगाया था. भारतीय सेना द्वारा भेजे गए एक हॉटलाइन संदेश का जवाब देते हुए पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने मंगलवार को सूचित किया था कि युवाओं को चीनी तरफ पाया गया है और उनकी स्थिति ठीक है.

PMAY के तहत PM मोदी ने किया 1.75 लाख घरों का उद्घाटन, लोगों को दी गृह प्रवेश की शुभकामनाएं

First published: 12 September 2020, 16:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी