Home » इंडिया » China looking to boost agricultural exports to India, President Xi tells PM Modi
 

किसानों के आंदोलन के बीच चीन बढ़ा सकता है भारत में कृषि निर्यात

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 December 2018, 10:43 IST

एक तरफ दिल्ली में देशभर के किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं वहीं चीन अब भारत में कृषि निर्यात को बढ़ावा देने की योजना बना रहा है. जबकि बीते दिनों रैपसीड और सोयामील के आयात में वृद्धि हुई है. राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शुक्रवार को जी-20 बैठक के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मुद्दे पर चर्चा की.

चीन के राष्ट्रपति शी के साथ के साथ विचार-विमर्श की जानकारी देते हुए भारत के विदेश सचिव विजय गोखले, जो मोदी के साथ यात्रा कर रहे थे, ने कहा कि दोनों देशों के बीच फार्मास्युटिकल क्षेत्र में अधिक व्यापार पर चर्चा हुई.

 

शी ने जिनपिंग ने भारत से चावल और चीनी के बढ़ते आयात पर भी चर्चा की. उन्होंने कहा चीन से सोयामील और रैपसीड के अधिक आयात की संभावना है. अधिकारियों ने गुरुवार को रॉयटर्स से कहा कि जी -20 शिखर सम्मेलन में इस साल शी और मोदी के बीच यह चौथी बैठक थी क्योंकि दोनों नेताओं ने पिछले साल अपनी सीमा विवाद पर चर्चा की थी.

भारत के वाणिज्य मंत्रालय और छ सदस्यीय चीनी प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को बीजिंग को विभिन्न कृषि उत्पादों के निर्यात के लिए बाजार पहुंच को कम करने के प्रयास में भारतीय मछली भोजन और मछली के तेल के आयात की जांच करने की अनुमति दी.

ये भी पढ़ें : G-20 Summit: 12 साल बाद जब एक मंच पर मिले भारत-चीन और रूस, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

First published: 1 December 2018, 10:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी